पंजीकृत कार्यालय
प्रमुख व्यक्ति
 
 
 

प्रेस संक्षिप्तियाँ - पुरालेख

 

नालको ने ₹322 करोड़ की राशि का 25% अन्तरिम लाभांश घोषित किया।

NALCO Declares 25% Interim Dividend Amounting to Rs.322 Cr भुवनेश्वर, 13.03.2015:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक नवरत्नक सार्वजनिक उद्यम, ने वित्त वर्ष 2014-15 के लिए ₹1288.62 करोड़ की प्रदत्त इक्विटी शेयर पूँजी पर 25% अर्थात् ₹5 प्रत्येक के शेयर पर ₹1.25 की दर से ₹322.15 करोड़ की राशि का अन्तरिम लाभांश घोषित किया है। यह कल नई दिल्ली में हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में अनुमोदित किया गया था।


नालको, जिसने 1987 में आपना वाणिज्यिक प्रचालन आरम्भ किया था, निरन्तर लाभ कमाती आ रही है और 1992 से लाभांश घोषित करती रही है। पिछले वित्तवर्ष अर्थात् 2013-14 में, इस कम्पनी ने ₹386.59 करोड़ का कुल लाभांश घोषित किया था। यह उल्लेखनीय है कि आरम्भ से अबतक, नालको लाभांश के रूप में कुल ₹4906 करोड़ का भुगतान कर चुकी है, जिसमें भारत सरकार के अंश के ₹4234 करोड़ शामिल हैं।

 

नालको द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया

International Women’s Day Celebrated by NALCOभुवनेश्वर, 09.03.2015:  अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर, 7 मार्च को नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) द्वारा भुवनेश्वर में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया। सुश्री स्नेहमंजरी मिश्र, (सचिव, आईना), विकलांगों, महिलाओं और बच्चों के विकास के लिए कार्यरत प्रसिद्ध समाज-सेविका, ने मुख्य अतिथि के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) एवं श्री अशोक कुमार साहु, कार्यपालक निदेशक (मा॰ व प्र॰) ने यह दिवस मनाए जानी प्रासंगिकता और महिला सशक्तीकरण की आवश्यकता संभाषण दिए।


सुश्री शुभदर्शिनी सेनापति ने सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य) की अनुपस्थिति में उनका सन्देश पढ़कर सुनाया। सुश्री नीलिमा कोंगारी ने धन्यवाद ज्ञापन किया। सुश्री ऊर्मि अधीरा रॉय ने कार्यक्रम का संचालन किया। महिला सशक्तीकरण पर, "य़ुगरु य़ुगान्त, नारी अपराजेय" नामक एकांकी नाटक का मंचन इच्छाराम फाउण्डेशन द्वारा किया गया।

 

ओ.एन.जी.सी. ने अखिल भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र वॉलीबॉल टूर्नामेण्ट जीता

ONGC wins All India Public-Sector Volleyball Tournamentभुवनेश्वर, 09.03.2015:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) द्वारा आयोजित अखिल भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र वॉलीबॉल टूर्नामेण्ट, 7 मार्च 2015 को समाप्त हुआ। प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल, नालकोनगर, अनुगुळ में आयोजित फाईनल मैच में एल.आई.सी. को 3-0 सेट से हराकर ओ.एन.जी.सी. चैम्पियन हुआ। श्री संजीव रॉय, कार्यपालक निदेशक(प्रद्रावक एवं विद्युत) ने मुख्य अतिथि के रूप में समापन समारोह की शोभा बढ़ाई और ओड़िशा वॉलीबॉल संघ के सचिव और अन्य महानुभावनों की उपस्थिति में ट्राफी प्रदान की।


कुल मिलाकर 8 सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों यथा- कोल इण्डिया, ऑयल इण्डिया, बी.एस.एन.एल., ओ.एन.जी.सी., नेवाल्ली लिग्नाईट, भेल, एल.आई.सी. और नालको ने इस 3-दिवसीय टूर्नामेण्ट में भाग लिया, जिसका आयोजन प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल, नालको द्वारा किया गया था। पुरस्कार वितरण समारोह में श्री सी॰आर॰ साहु, सहायक महाप्रबन्धक(मा॰ व प्र॰), श्री सुदर्शन तराई, सहायक महाप्रबन्धक(राजभाषा एवं क्रीड़ा) के साथ नालको के क्रिकेट खिलाड़ी श्री देवाशीष महान्ति और श्री शिव सुन्दर दास भी उपस्थित थे। श्री एम॰आर॰ दास, उप-प्रबं॰(वित्त) ने समापन समारोह का संचालन किया, जबकि श्री सी॰आर॰ चौधरी, सहा॰प्रबं॰ (प्रशासन)-क्रीड़ा एवं कल्याण ने धन्यवाद ज्ञापन किया.


यह उल्लेखनीय है कि इस टूर्नामेण्ट का उद्घाटन 5 मार्च को श्री एस.के॰ राय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत) द्वारा, श्री पी.के.महान्ति, सचिव, ओड़िशा वॉलीबॉल संघ(ओ.वी.ए.), श्री प्रदोष महान्ति, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰), श्री सुदर्शन तराई, सहायक महाप्रबन्धक(राजभाषा एवं क्रीड़ा) निगम कार्यालय, भुवनेश्वर, श्री निर्मल सामल, महासचिव, नेस, मान्यताप्राप्त श्रमिक संघ की उपस्थिति में हुआ था।

 

नालको अखिल भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र वॉलीबॉल टूर्नामेण्ट की मेजबानी करेगा

भुवनेश्वर, 03.03.2015:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार का एक नवरत्नय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम अखिल भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र वॉलीबॉल टूर्नामेण्ट – 2014-15 का आयोजन करेगा। यह टूर्नामेण्ट 5 से 7 मार्च 2015 तक बीजू पटनायक खेलकूद संकुल, नालको नगर, अनुगुळ में आयोजित होगा। अखिल भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र खेलकूद प्रोन्नयन बोर्ड के एक सदस्य के रूप में नालको इस गौरवमय टूर्नामेण्ट की मेजबानी कर रहा है।


इस टूर्नामेण्ट में नालको, नेवेल्ली लिग्नाईट, ओ.एन.जी.सी., एल.आई.सी., भेल, भारतीय इस्पात प्राधिकरण, बी.एस.एन.एल. और कोल इण्डिया से प्रतिभागी दल भाग लेंगे। इस कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए, श्री एस.के॰ रॉय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल), नालको की अध्यक्षता में एक आयोजक समिति गठित की गई है। ओड़िशा वॉलीबॉल संघ से रेफरी मैचों का संचालन करेंगे।

 

नालको की तीसरी तिमाही का शुद्ध लाभ: ₹354 करोड़, शुद्ध बिक्री: ₹1877 करोड़

भुवनेश्वर, 11.02.2015:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार की एक नवरत्नस कम्पनी, ने दिसम्बर 2014 को समाप्त तीसरी तिमाही के लिए परिणाम घोषित किए हैं।


भुवनेश्वर में कल हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में रिकार्ड में लिए गए वर्ष 2014-15 वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के पुनरीक्षित परिणामों के अनुसार, नालको ने ₹354 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की सम्बन्धित तिमाही के दौरान उपलब्ध ₹131 करोड़ की राशि से 170% अधिक है।


दिसम्बर 2014 को समाप्त 9 महीनों के लिए शुद्ध लाभ ₹967 करोड़ का हुआ, जबकि पिछले वित्त वर्ष की तत्समान अवधि में ₹470 करोड़ का लाभ हुआ था, अर्थात् 106% बढ़ोतरी हुई है। दिसम्बर 2014 को समाप्त 9 महीनों के लिए शुद्ध बिक्री, पिछले वित्तवर्ष की तत्समान अवधि में हुई ₹4,868 करोड़ की तुलना में ₹5,483 करोड़ की हुई है।


उत्पादन के मोर्चे पर, प्रथम नौ महीनों के दौरान, नालको ने पिछले वित्त वर्ष की तुलनीय अवधि में उपलब्ध 14.26 लाख टन की तुलना में 14.24 लाख टन एल्यूमिना हाईड्रेट का उत्पादन किया। एल्यूमिनियम धातु का उत्पादन पिछले वर्ष के नौ महीनों की तुलनीय अवधि के दौरान दर्ज किए गए 2.38 लाख टन के मुकाबिले 2.44 लाख टन का हुआ। पिछले वर्ष की संबंधित अवधि में उपलब्ध 3,760 मि॰यू॰ की तुलना में विद्युत सृजन 3,858 मि॰यू॰ का ही हुआ।

 

नालको द्वारा कार्यशाला- अनुगुळ में 100 उड़नशील राख के ईँट एककों के लिए अवसर

WORKSHOP BY NALCO Scope for 100 Fly-ash Brick Units in Angulभुवनेश्वर, 03.02.2015 :  जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक श्री निराकार मिश्र के अनुसार, नालको द्वारा उड़नशील राख निःशुल्क उपलब्ध कराए जाने के द्वारा, ऐसी ईंटों के लिए चिर-वर्धनशील बाजार, सरल और आकर्षक बैंक ऋण के साथ साथ सरकार द्वारा नए मार्गनिर्देशों और एकल-झरोखा पारिती नीति से लाभ उठाते हुए अनुगुल जिले में लगभग 100 उड़नशील राख के ईंट बनानेवाले एकक स्थापित किए जा सकते हैं। वे नालको द्वारा 3 फरवरी को अनुगुळ में नालको के प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल के परिधीय विकास दस्ते द्वारा आयोजित एक कार्यशाला को सम्बोधित कर रहे थे, जिसमें निकटवर्ती 20 ग्राम पंचायतों के युवा उद्यमी और सरपंचों ने भाग लिया। श्री गोपबन्धु प्रधान, डी.सी.आई.ओ. ने, ईंट उत्पादन के तकनीकी पहलुओं पर प्रकाश डाला। नालको से श्री संजीव रॉय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत), कार्यशाला की अध्यक्षता की और निवर्तमान सरकारी मानकों के अनुसार नालको का पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। श्री अशोक पात्र, महाप्रबन्धक(सामग्री), श्री के॰के॰ पण्डा, महाप्रबन्धक (ग्र॰वि॰सं॰), और श्री सुधीर पटनायक, सहायक महाप्रबन्धक(एएमडी) ने भी इस विषय पर अपना भाषण दिया। श्री अनिल भट्ट, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰)-प्रभारी एवं परिधीय विकास के विभागाध्यक्ष, ने कार्यक्रम का संचालन किया और श्री राजेन्द्र मिश्र, प्रबन्धक(सिविल)-प.वि. ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

 

नालको की 160 किलोवाट-पिक छत पर सौर परियोजना उद्घाटित

NALCO’s 160 KWp Rooftop Solar Project Inauguratedभुवनेश्वर, 28.01.2015:  आज भुवनेश्वर में, श्री विष्णु देव साई, माननीय इस्पात एवं खान राज्य मंत्री, भारत सरकार ने, नालको के श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, श्री एन.आर॰ महान्ति, निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी), श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), श्री व्ही॰ बालसुब्रमण्यम्, निदेशक (उत्पादन) एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी (नालको), एक नवरत्न् सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम के निगम कार्यालय की छत पर 160 किलोवाट-पिक सौर विद्युत परियोजना का औपचारिक रूप से उद्घाटन किया। राज्य में एक ही छत पर चालू की गई यह पहली वृहत्तम सौर विद्युत परियोजना है।


यह छत पर सौर विद्युत परियोजना ₹1.25 करोड़ की कुल परियोजना लागत से गैर-परम्परागत और अक्षय ऊर्जा स्रोत के दोहन के प्रति कम्पनी प्रयासों के भाग रूप में स्थापित की गई है। यह उल्लेखनीय है कि नालको ने अपनी नालकोनगर टाउनशिप, भुवनेश्वर में 100 किलोवाट-पिक क्षमता की छतोपरि सौर परियोजना की संस्थापना के लिए भी कार्यवाही की है और इसके एककों में इसी प्रकार की परियोजनाओं की स्थापना की आयोजना है। साथ ही, यह कम्पनी भारत में अन्य अनुकूल स्थानों पर और सौर विद्युत संयंत्रों की स्थापना के लिए मूल्यांकन कर रही है।/p>

 

नालको ने गणतन्त्र दिवस मनाया।

Nalco Celebrates Republic Dayनालको ने राष्ट्र के साथ 66वाँ गणतन्त्र दिवस मनाया। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने निगम कार्यालय, भुवनेश्वर में तिरंगा ध्वज लहराया।

 

नालको पूर्वांचल गोल्फ टूर्नामेण्ट समाप्त - सत्यज्योति महान्ति चैम्पियन हुए

NALCO East Zone Golf tournament concludes Satyajyoti Mohanty emerges championभुवनेश्वर: 25/01/2015:  12वाँ नालको पूर्वांचल गोल्फ टूर्नामेण्ट भुवनेश्वर गोल्फ क्लब(बीजीसी) में समाप्त हुआ। स्थानीय गोल्फ खिलाड़ी सत्यजीत महान्ति इसमें चैम्पियन हुए और कम्पनी के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास के कर-कमलों से नालको ट्रॉफी ग्रहण की।


साथ ही, सुश्री लाखी स्वाईं को श्रेष्ठ महिला गोल्फर के रुप में पुरस्कृत किया गया जबकि श्री प्रभुदा राय और श्री रंकित कपूर को क्रमशः वरिष्ठ संवर्ग और श्रेष्ठ सकल संवर्ग में पुरस्कृत किया गया। मऊभण्डार रेलवे क्लब (पश्चिम बंगाल) के श्री त्रिलोचन सिंह को श्रेष्ठ बाहर के गोल्फ खिलाड़ी के रूप में पुरस्कार प्रदान किया गया। युवाओं में, श्री धर्मेन्द्र मिश्र ने भी 19-24 विसक्षम संवर्ग में ट्राफी प्राप्त की। कल यहाँ आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन), नालको, सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), नालको, श्री व्ही॰ बालसुब्रमण्यम्, निदेशक (उत्पादन), नालको, और श्री दुलाल पाणि, सचिव, भुवनेश्वर गोल्फ क्लब ने विभिन्न संवर्गों में विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। आज आयोजित हुए दलीय खेल में, श्री अजय नेगी, श्री जे॰. रथ, श्री जयन्त विश्वास और श्री रंजीत सिंह विजेता हुए। पश्चिम बंगाल, बिहार, झाड़खण्ड, ओड़िशा आदि सहित पूर्वी भारत के 15 गोल्फ क्लबों के 80 से अधिक गोल्फरों ने इस टूर्नामेंट में भाग लिया। इस तीन-दिवसीय 18-छिद्र स्ट्रोक खेल अन्तर-क्लब टूर्नामेण्ट में, ओड़िशा में वृहत्तम, भुवनेश्वर गोल्फ क्लब (बीजीसी) के तत्त्वावधान के अन्तर्गत, पुरुष, महिला और पुराने अनुभवी संवर्गों में विशेष प्रतियोगिताएँ हुईं और इन्फोसिटी, भुवनेश्वर में गोल्फ कोर्स में इस शृंखला में यह बारहवीं बार आयोजित हुआ।

 

नालको द्वारा पुष्प प्रदर्शनी

Flower Show by Nalcoभुवनेश्वर, 19.01.2015:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने नालकोनगर, भुवनेश्वर में 17 और 18 जनवरी 2015 को अपनी वार्षिक पुष्प एवं वनस्पति प्रदर्शनी ‘बसन्त पुष्प प्रदर्शनी’ आयोजित की। इस प्रदर्शनी में विभिन्न वर्गों में कुल 12 संस्थाओं और 77 व्यक्तियों ने भाग लिया।


श्री विशाल देव, आई॰ए॰एस॰, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, इडको ने श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, श्री एन.आर॰ महान्ति, निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी), श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन), श्री व्ही॰ बालसुब्रमण्यम्, निदेशक (उत्पादन) और नालको के अन्य वरिष्ठ कार्यपालकों की उपस्थिति में इस प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। समारोप दिवस को, श्रीमती मानसी दास ने मुख्य अतिथि के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई जबकि श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), श्री एस.के॰ दाश, कार्यपालक निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) और श्री अशोक कुमार साहु, कार्यपालक निदेशक (मा॰ व प्र॰) ने महानुभावों के रूप में पधारकर विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। संस्थागत संवर्ग में सी॰व्ही॰ रमण इंजीनियरिंग कॉलेज ने विजेता की ट्रॉफी जीती जबकि खुंटिया निवास ने उप-विजेता की ट्राफी जीती। व्यक्तिगत संवर्ग में श्री लक्ष्मी नारायण खुंटिया चैम्पियन हुए जबकि श्रीमती रश्मिरेखा राउत उप-विजेता हुईं।


श्री अमीय पटनायक, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰) और श्री एच॰के॰पाल, सहायक महाप्रबन्धक (बागवानी) ने कार्यक्रम का संचालन किया।

 

नालको को ईईपीसी निर्यात पुरस्कार मिला

NALCO bags EEPC Export Awardभुवनेश्वर, 15.01.2015:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), नवरत्न् सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम और भारत के अग्रणी एल्यूमिना और एल्यूमिनियम के उत्पादक और निर्यातक, को वर्ष 2012-13 के दौरान अपने उत्कृष्ट निर्यात निष्पादन के लिए वृहद उद्यम संवर्ग में शीर्ष निर्यातक के रूप में ईईपीसी (इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रोमोशन काउन्सिल, पूर्वी क्षेत्र) की स्वर्ण ट्राफी मिली है।


निर्यात उत्कृष्टता 2012-2013 के लिए 14 जनवरी को कोलकाता में आयोजित ई.ई.पी.सी. क्षेत्रीय पुरस्कार समारोह में कम्पनी की ओर से, श्री एस॰ सामन्तराय, उप-महाप्रबन्धक (विपणन) ने भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ॰ ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के कर-कमलों से यह पुरस्कार ग्रहण किया।


वित्त वर्ष 2012-13 के दौरान, कम्पनी ने ₹3410 करोड़ की विदेशी मुद्रा अर्जन सहित ₹7247 करोड़ का बिक्री कारोबार उपलब्ध किया।


यहाँ यह भी उल्लेख किया जा सकता है कि नालको को प्रीमियर ट्रेडिंग हाउस की पदवी प्राप्त है और अपने उत्पादों की उच्च गुणवत्ता के लिए लन्दन धातु बाजार(एल.एम.ई.) में पंजीकृत होनेवाली यह पहली भारतीय कम्पनी है।

 

भारतीय हॉकी दल के कप्तान को नालको से पुरस्कार

Award from Nalco to Captain of Indian Hockey Teamकल यहाँ कलिंग स्टेडियम, भुवनेश्वर में आयोजित चैम्पियन्स ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेण्ट 2014 के समापन समारोह में नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) के निदेशक (मानव संसाधन) श्री एस॰सी॰ पाढ़ी ने भारतीय हॉकी दल के कप्तान श्री सरदार सिंह को "फैन्स च्वाईस एवार्ड" के रूप में ₹ एक लाख का चैक प्रदान किया।


यह उल्लेखनीय है कि एफ.आई.एच. (फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल हॉकी) चैम्पियन्स ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेण्ट 2014 का उद्घाटन 6 दिसम्बर को हुआ था। नालको ने एक सह-प्रायोजक के रूप में इस टूर्नामेण्ट में अंशग्रहण किया था।

 

नालको ने सार्वजनिक क्षेत्र में महिलाओं (डब्ल्यू.आई.पी.एस.) के लिए मंच के क्षेत्रीय सम्मेलन की मेजबानी की

NALCO HOSTS REGIONAL MEET OF FORUM FOR WOMEN IN PUBLIC SECTOR (WIPS)भुवनेश्वर, 06.12.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), भारत सरकार के नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ने, स्टैण्डिंग कान्फ्रेन्स ऑफ पब्लिक इण्टरप्राइजेस (स्कोप) के तत्वावधान में सार्वजनिक क्षेत्र में महिलाओं (डब्ल्यू.आई.पी.एस.) के पूर्वांचलीय शाखा के मंच के क्षेत्रीय सम्मेलन की मेजबानी की। यह सम्मेलन महानदी निवास सभागार, नालको नगर, भुवनेश्वर में कल आयोजित हुआ।


इस कार्यक्रम का उद्घाटन श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको द्वारा, श्री एस.एस॰ महापात्र, निदेशक (उत्पादन), श्री एन.आर॰ महान्ति, निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), सुश्री अमिता साहा, अध्यक्ष, डब्ल्यू.आई.पी.एस., पूर्वी क्षेत्र, सुश्री संचिता बनर्जी, सचिव, डब्ल्यू.आई.पी.एस., पूर्वी क्षेत्र की उपस्थिति में किया गया। सुश्री आरती देवी, सरपंच, ढुंकापड़ा ग्राम पंचायत, पोलसरा ब्लॉक, गंजाम जिला ने वक्ता के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई।


क्षेत्रीय सम्मेलन का प्रसंग था "स्वच्छ भारत की तलाश में महिलाएँ"। प्रसंग पर जनसमूह को सम्बोधित करते हुए पर सुश्री आरती देवी ने स्वच्छ भारत के लक्ष्य की उपलब्धि में महिलाओं की भूमिका पर बल दिया।


अपने अध्यक्षीय भाषण में, श्री अंशुमान दास ने बताया कि अपनी प्रतिभा और सामर्थ्य का उपयोग करके निगम विश्व में महिलाओं ने किस प्रकार नेतृत्व का स्थान उपलब्ध किया है। इस अवसर पर बोलते हुए, सुश्री सोमा मण्डल ने कार्यकारी महिलाओं द्वारा सामना की जा रही समस्याओं पर प्रकाश डाला और इन चुनौतियों के सम्भव समाधान के सुझाव दिए।


इस अवसर पर "महिलाओं को क्या पीछे खींचता है?" विषय पर एक दलीय परिचर्चा भी आयोजित की गई। डॉ॰ बिजन वासिनी महान्ति, सेवानिवृत्त प्रोफेसर, कार्मिक प्रबन्धन और औद्योगिक सम्बन्ध विभाग, उत्कल विश्वविद्यालय, सुश्री परमिता महापात्र, निदेशक, निदेशक-मंडल, इम्फा, सुश्री सम्रा चक्रवर्ती लाहिरी, विभागाध्यक्ष (निगम संचार), हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड, कोलकाता ने दल-प्रमुख के रूप में परिचर्चा में भाग लिया। श्री सुजीत महापात्र, स्थापक और सचिव, बकुल फाउण्डेशन दलीय परिचर्चाओं के मध्यस्थ थे।


पूर्वांचल के 12 सार्वजनिक क्षेत्र उद्यमों के प्रतिनिधियों और नालको की महिला कर्मचारियों ने इस सम्मेलन में भाग लिया। जबकि सुश्री आर॰ विजया चक्रवर्ती, सहायक महाप्रबन्धक(सीस्टम्स), नालको ने स्वागत भाषण दिया, सुश्री सुतपा भट्टाचर्जी, कोषाध्यक्ष, डब्ल्यू.आई.पी.एस., पूर्वी क्षेत्र ने धन्यवाद ज्ञापन की औपचारिकता निभाई। सुश्री गीता महापात्र, सह-संयोजक, डब्ल्यू.आई.पी.एस. और प्रबन्धक, मा॰सं॰वि॰, नालको ने कार्यक्रम का संचालन किया। सुश्री व्ही॰ अनुराधा और सुश्री नीलिमा कोंगारी सम्मेलन के उद्घोषणा तथा कार्यवाहियों का प्रबन्धन किया।

 

नालको ने नई दिल्ली में नया स्टॉकयार्ड खोला

NALCO Opens New Stockyard at New Delhi भुवनेश्वर, 26.11.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), भारत सरकार के नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ने नई दिल्ली में अपना नया स्टॉकयार्ड खोला है। 24 नवम्बर को, सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), श्री आर॰एन॰ लेंका, कार्यपालक निदेशक (विपणन), श्री ए॰एस॰ अहलुवालिया, क्षेत्रीय प्रबन्धक (उ.क्षे.) और नालको के अन्य अधिकारियों और उत्तर क्षेत्र के ग्राहकों की उपस्थिति में श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने स्टॉकयार्ड का उद्घाटन किया।


यह उल्लेखनीय है कि, नई दिल्ली का नालको का देश में 11वाँ स्टॉकयार्ड है। इससे उत्तर क्षेत्र में एल्यूमिनियम धातु की बिक्री और प्रवर्धित होगी।

 

नालको ने स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया

NALCO organizes Health Camp भुवनेश्वर, 24.11.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने कल खुर्दा जिले के डंगरपड़ा गाँव में एक निःशुल्क स्वास्थ्य जाँच शिविर आयोजित किया।


यह शिविर लिंगराज हाई स्कूल के परिसर में आयोजित किया गया। आसपास के गाँवों के लगभग 800 रोगियों ने शिविर में भाग लिया। स्वास्थ्य जाँच के बाद उन्हें आवश्यकतानुसार मुफ्त दवाइयाँ प्रदान की गईं।


डॉ. एल. शतपथी के नेतृत्व में इस दल में डॉ. जे. पण्डा और डॉ. एम.के. वागजी और डॉ. एम.एस. पण्डा शामिल थे। श्री आर॰.के॰सामल, श्री भोलानाथ पाईकराय, श्री आर.के.बेहेरा, श्री ए.के.पत्री, श्री एकादशी साहू, सुश्री विष्णुप्रिया मिश्र सहित नालको स्टाफ ने इस दल का सहयोग किया। श्री अशोक कुमार साहु, कार्यपालक निदेशक (मा. व प्र.), श्री आर॰ मिश्र, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰) & श्री अमीय पटनायक, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰) इस शिविर में उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे।

 

नालको ने विश्व शौचालय दिवस मनाया

Nalco observes World Toilet Dayनालको नालको ने राष्ट्र के साथ विश्व शौचालय दिवस मनाया।

 

आई.आई.टी.एफ.2014 में नालको मण्डप

Nalco Stall at IITF'2014प्रगति मैदान, नई दिल्ली में 14 से 27 नवम्बर तक आयोजित भारत अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेला (आई.आई.टी.एफ) के 34वें संस्करण में श्री अतनु सव्यसाची नायक, माननीय मन्त्री, सूचना एवं जनसम्पर्क, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और श्री योगेन्द्र बेहेरा, माननीय मन्त्री, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एम.एस.एम.ई.), पेन्शन और सार्वजनिक शिकायत, ओड़िशा सरकार परिदर्शन कर रहे हैं।


Nalco Stall at IITF'2014फोटो कैप्शन : श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको, आई.आई.टी.एफ.-2014 में नालको मण्डप का परिदर्शन कर रहे हैं।

 

नालको द्वारा अंतिम लाभांश भुगतान

Nalco Pays Final Dividendभुवनेश्वर, 13.11.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक नवरत्नए सार्वजनिक उद्यम, ने वित्त वर्ष 2013-14 के लिये ₹386.59 करोड़ की राशि का कुल लाभांश (अर्थात् प्रदत्त पूँजी का 30%) घोषित किया है। इसमें ₹313.23 करोड़ का भारत सरकार का अंश शामिल है। उल्लेखनीय है कि आरम्भ से अब तक, नालको लाभांश के रूप में कुल ₹4905.77 करोड़ का भुगतान कर चुकी है, जिसमें भारत सरकार के अंश के ₹4233.96 करोड़ शामिल हैं।


कम्पनी भारत सरकार को भुगतानयोग्य ₹313.23 करोड़ में से ₹229.80 करोड़ के अंतरिम लाभांश का मार्च 2014 के दौरान भुगतान कर चुकी है। आज नई दिल्ली में अन्तिम लाभांश की ₹83.43 करोड़ की राशि का चैक डॉ॰ अनूप कुमार पुजारी, आई.एस.एस., सचिव, श्री आर. श्रीधरन्, आई.ए.एस., अपर सचिव एवं मंत्रालय के अधिकारियों तथा कंपनी के निदेशकों की उपस्थिति में नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास द्वारा श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, माननीय केन्द्रीय खान और इस्पात मंत्री, भारत सरकार को प्रदान किया गया।


इसी बीच, कम्पनी ने सितम्बर-2014 को समाप्त दूसरी तिमाही के परिणाम घोषित किए हैं। नई दिल्ली में कल हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में रिकार्ड में लिए गए वर्ष 2014-15 वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के पुनरीक्षित परिणामों के अनुसार, नालको ने ₹342 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की सम्बन्धित तिमाही के दौरान उपलब्ध ₹179 करोड़ की राशि से 91% अधिक है।

 

नालको का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 91% बढ़कर ₹342 करोड़ हुआ

NALCO 2nd Quarter Net Profit up 91% at Rs. 342 crore भुवनेश्वर, 12.11.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) खान मंत्रालय, भारत सरकार का एक नवरत्नत सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम और देश के अग्रणी एल्यूमिना और एल्यूमिनियम उत्पादक और निर्यातक ने सितम्बर 2014 को समाप्त द्वितीय तिमाही में उत्कृष्ट परिणाम दर्शाए हैं।


नई दिल्ली में आज हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में रिकार्ड में लिए गए वर्ष 2014-15 वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के पुनरीक्षित परिणामों के अनुसार, नालको ने ₹342 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की सम्बन्धित तिमाही के दौरान उपलब्ध ₹179 करोड़ की राशि से 91% अधिक है। इसीप्रकार, बिक्री कारोबार भी पिछले वर्ष की तुलनीय तिमाही से लगभग 14 % बढ़कर ₹245 करोड़ तक पहुँच गया।


सितम्बर 2014 को समाप्त प्रथमार्द्ध के लिए शुद्ध लाभ और बिक्री कारोबार भी बढ़कर क्रमशः ₹613 करोड़ और ₹3607 करोड़ का हुआ है, जबकि पिछले वित्त वर्ष के तत्समान वर्षार्द्ध के दौरान ये आँकड़े क्रमशः ₹339 करोड़ और ₹3247 करोड़ के उपलब्धि हुए थे।


उत्पादन के मोर्चे पर, प्रथमार्द्ध के दौरान नालको ने 9.64 लाख टन एल्यूमिना हाईड्रेट और 1.61 लाख टन का धातु उत्पादन उपलब्ध किया।

 

नालको लेडिज क्लब ‘स्वच्छ भारत’ अभियान में शामिल हुआ

Nalco Ladies Club joins hands for ‘Swachh Bharat’ campaignभुवनेश्वर, 04.11.2014:  नालको लेडिज क्लब, भुवनेश्वर ने राष्ट्रव्यापी ‘'स्वच्छ भारत’ सफाई अभियान में योगदान किया और सफाई गतिविधियाँ हाथ में ली।


यह उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए “स्वच्छ भारत अभियान”, 25 सितम्बर 2014 से आरम्भ हुआ। इस अभियान में अपनी प्रतिभागिता के उपलक्ष्य में नालको लेडिज क्लब, भुवनेश्वर की सदस्याओं ने 2 नवम्बर, 2014 को नालको नगर परिसर में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया। इस अवसर पर, श्रीमती मानसी दास, अध्यक्ष द्वारा ओड़िआ में और श्रीमती सुरभि महापात्र द्वारा हिन्दी में अपनी सदस्याओं को “स्वच्छता शपथ” दिलाई गई। परिसर में सफाई अभियान के बाद इस अवसर पर एक नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया।

 

नालको ने “राष्ट्रीय एकता दिवस” मनाया

NALCO observes ‘Rashtriya Ekta Diwas’भुवनेश्वर, 31.10.2014  सरदार वल्लभाई पटेल की जन्म वार्षिकी की यादगार में और विपरीत शक्तियों के विरुद्ध भारत के बल और सामर्थ्य को दोहराने हेतु नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड(नालको), भारत सरकार के खान मंत्रालय के एक नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ने राष्ट्र के साथ “राष्ट्रीय एकता दिवस” मनाया। इस अवसर के उपलक्ष्य में, कर्मचारियों को तीनों भाषाओं में "राष्ट्रीय एकता" शपथ दिलाई गई और सामूहिक राष्ट्रगान गायन किया गया। निगम कार्यालय में, इस अवसर पर निदेशकगणों और वरिष्ठ कार्यपालकों सहित अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे। कम्पनी के एककों और क्षेत्रीय कार्यालयों में भी “राष्ट्रीय एकता दिवस” मनाया गया।

 

नालको में ‘विक्रेता विकास कार्यक्रम’ पर सेमिनार

भुवनेश्वर, 30/10/2014:  सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम समूह में सेवा-प्रदाताओं को लाने की दृष्टि से, नालको के प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल, अनुगुळ, द्वारा 28 अक्तूबर 2014 को अपने प्रशिक्षण केन्द्र में एक विक्रेता विकास कार्यक्रम आयोजित किया। नालको के लगभग 100 सेवा प्रदाताओं ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।


आरम्भ में, श्री गोपबन्धु प्रधान, जिला कुटीर उद्योग अधिकारी, जिला उद्योग केन्द्र, अनुगुळ, ने अतिथियों का स्वागत किया और इस बैठक के उद्देश्य के संक्षिप्त विवरण पेश किया। इस अवसर की मुख्य अतिथि के रूप में शोभा बढ़ाते हुए, श्री एस.के॰ रॉय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत), ने राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम क्षेत्र के महत्व पर प्रकाश डाला और नालको द्वारा इस क्षेत्र के विकास के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों का ब्यौरा दिया। सम्मानित अतिथि श्री निराकार मिश्र, महाप्रबन्धक, जिला उद्योग केन्द्र, अनुगुळ, ने सेवा क्षेत्र के विकास केलिए सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों और आई.पी.आर.-2007 तथा एम.एस.एम.ई. अधिनियम-2009 में निर्धारित प्रोत्साहनों पर प्रकाश डाला। अन्य प्रमुख व्यक्तियों में, श्री पी.सी॰ नायक, उप-अंचल प्रबन्धक, एन.एस.आई.सी., भुवनेश्वर, श्री पी.के॰ गुप्ता, निदेशक, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम, जिला उद्योग, कटक, श्री के.के॰ शॉ, संकाय सदस्य, भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान, अहमदाबाद और श्री चिदानन्द मिश्र, सहायक निदेशक, उद्योग निदेशालय, कटक ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। श्री अशोक पात्र, महाप्रबन्धक (सामग्री), नालको, ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

 

नालको ने सतर्कता चेतना सप्ताह मनाया

NALCO Observes Vigilance Awareness Weekभुवनेश्वर, 27/10/2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी (नालको) ने राष्ट्र के साथ अपने सभी परिस्थलों और कार्यालयों में सतर्कता सचेतनता सप्ताह मनाया। इस वर्ष, यह सप्ताह 27 अक्तूबर से 1 नवम्बर तक, “भ्रष्टाचार का सामना : तकनीकी एक समर्थक के रूप में” के प्रसंग के साथ मनाया गया। निगम कार्यालय में आज सप्ताहव्यापी कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने श्री एस॰सी. पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) और श्री सुव्रत कर, उप-महाप्रबन्धक (सतर्कता) के साथ कर्मचारियों को ओड़िआ, हिन्दी एवं अंग्रेजी- तीन भाषाओं में शपथ दिलाई। इस अवसर पर सांविधिक प्राधिकारियों द्वारा प्रेषित सन्देशों को कर्मचारियों को पढ़कर सुनाया गया। इस अवसर पर इस वर्ष के प्रसंग पर आधारित एक सेमिनार का भी आयोजन किया गया।


श्री आर॰ श्रीकुमार, आई॰पी॰एस॰ (सेवा-निवृत्त), भारत के पूर्व सतर्कता आयुक्त, और प्रसिद्ध पत्रकार श्री विनीत नारायण ने, क्रमशः मुख्य अतिथि और मुख्य वक्ता के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई। जबकि मुख्य वक्ता श्री नारायण ने अपने उपस्थापन के माध्यम से भ्रष्टाचार से लड़ने के अपने अनुभव बताए, मुख्य अतिथि श्री आर॰ श्रीकुमार ने बताया कि किस प्रकार भ्रष्टाचार की घटनाओं को रिकार्ड करने और रिपोर्ट भेजने में और पारदर्शिता, कुशलता और जवाबदेही बढ़ाने में एक उपकरण के रूप में तकनीकी का प्रयोग किया जा सकता है। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने सेमिनार की अध्यक्षता की। श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मा.सं.) ने स्वागत भाषण दिया, जबकि श्री सुव्रत कर, उप-महाप्रबन्धक (सतर्कता) ने धन्यवाद ज्ञापन किया। समारोह के अंश रूप में, नालको के निगम कार्यालय में 20 अक्तूबर को स्थानीय स्कूलों और कालेजों के विद्यार्थियों के बीच सतर्कता चेतना से संबंधित विषयों पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गई।

 

नालको ने विकलांग व्यक्तियों के लिए स्व-नियोजन उपकरण दान किए

NALCO donates self-employment kits to Persons with Disabilitiesभुवनेश्वर, 16/10/2014  एक उल्लेखनीय सद्भावना के रूप में, नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), भारत सरकार के खान मंत्रालय के अधीन नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम ने, विकलांगों के लिए व्यावसायिक पुनर्वास केन्द्र (वी.आर.सी.एच.) के माध्यम से विकलांग व्यक्तियों को स्व-रोजगार उपकरण दान किए।


कम्पनी की ओर से, श्री एस.सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) और श्री अशोक कुमार साहु, कार्यपालक निदेशक (मा॰ व प्र॰) ने आज वी.आर.सी.एच. में आयोजित वृत्ति परामर्शण और रोजगार मेले में स्व-रोजगार उपकरण के रूप में इण्टरलॉकिंग जिगजाग मशीनें दान की। इस अवसर पर श्री शास्वत मिश्र, आई॰ए॰एस॰, आयुक्त-सह-सचिव, महिला एवं बाल विकास, ओड़िशा सरकार, श्री पी.सी॰ दास, आई॰ए॰एस॰, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, एन.एच.एफ.डी.सी., भारत सरकार, श्री आर.के॰ शर्मा, सहायक निदेशक (पुनर्वास), श्रीमती कस्तूरी महापात्र, विकलांग व्यक्तियों के लिए राज्य आयुक्त, श्री बी.बी॰ पटनायक, निदेशक, विकलांग व्यक्ति कल्याण और श्री डी.के॰ पाणिग्राही, सहायक महाप्रबन्धक(प्रशासन), नालको उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे।

 

नालको ने ‘स्वच्छ भारत’ अभियान में योगदान किया।

NALCO joins hands for ‘Swachh Bharat’ campaignभुवनेश्वर, 03.10.2014:  2 अक्तूबर को नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड(नालको), भारत सरकार के खान मंत्रालय के एक नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम, ने राष्ट्रव्यापी सफाई अभियान "स्वच्छ भारत" में योग दिया और अपने निगम कार्यालय, प्रचालन एककों और आवसीय उपनगरियों में अनेक गतिविधियाँ हाथ में लीं।


कर्मचारियों को 'स्वच्छता शपथ' दिलाने और अपनी आवासीय उपनगरियों में और निगम कार्यालय में सफाई अभियान चलाने के अलावा इस अवसर पर एक सचेतनता जुलूस और नुक्कड़ नाटक भी आयोजित किया गया। साथ ही, स्वच्छ विद्यालय अभियान के भाग रूप में, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने, निकटवर्ती डमणा हाई स्कूल और यू॰जी.यू.पी॰ स्कूल, भुवनेश्वर में शौचालयों के निर्माण की भी शुरूआत की। श्री एन.आर॰ महान्ति, निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी), श्री एस.सी॰ पाढ़ी, निदेशक(मानव संसाधन), श्री के.सी॰ सामल, निदेशक(वित्त), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक(वाणिज्य), के साथ अन्य वरिष्ठ कार्यपालक, नालको फाउण्डेशन के अधिकारी और दोनों स्कूलों के प्रधानाध्यापक और स्टाफ इस अवसर पर उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे।


इसके अतिरिक्त, अभियान के अंश रूप में, नालको ने अपने प्रचालन एकक दामनजोड़ी के परिधीय गाँवों के स्कूलों में दो शौचालय और अनुगुळ में एक शौचालय का निर्माण आरम्भ करवाया। यह उल्लेखनीय है कि नालको ने भारत सरकार द्वारा छेड़े गए इस अभियान में सक्रिय साझेदार बनने की स्वीकृति दी है और स्वच्छता सुविधाएँ प्रदान करने के लिए 150 से अधिक स्कूलों की निशानदही की है।


इसीप्रकार, अनुगुळ एवं दामनजोड़ी स्थित कम्पनी के एककों में भी 'स्वच्छ भारत’ अभियान हाथ में लिया गया। श्री आर.के॰ मिश्र, कार्यपालक निदेशक (खान एवं परि॰) और श्री एस.के॰ रॉय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत) ने क्रमशः खान एवं परिशोधन संकुल और at प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल में कर्मचारियों को शपथ दिलाई। इस अवसर के उपलक्ष्य में, कर्मचारियों, दिल्ली पब्लिक स्कूल एवं सरस्वती विद्या मन्दिर स्कूल के बच्चों ने विभिन्न सचेतनता गतिविधियों में भाग लिया और सफाई अभियान संचालित किया।

 

नालको ने 2013-14 के लिए ₹387 करोड़ का लाभांश घोषित किया।

भुवनेश्वर, 27/09/2014:  आज यहाँ आयोजित 33वीं वार्षिक साधारण बैठक में, नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम, के शेयरधारकों ने 30% का कुल लाभांश भुगतान अनुमोदित किया, जो ₹1.50 प्रति शेयर होता है। 2013-14 के लिए कुल भुगतान ₹387 करोड़ का है। आरम्भ से अबतक, नालको ने लाभांश के रूप में ₹4906 करोड़ का भुगतान किया है, जिसमें भारत सरकार के अंश के ₹4234 करोड़ शामिल है।

वार्षिक साधारण बैठक के पश्चात, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने पत्रकारों को सम्बोधित किया और कम्पनी के कार्य-निष्पादन और इसकी विकास योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, “संधारणीय विकास की उपलब्धि की दृष्टि से, नालको ने वर्तमान की चुनौतियों और भविष्य के भयों पर जीत हासिल करने के लिए एक नई यात्रा शुरू की है।" प्रचालन के 33 वर्षों के बाद, यह कम्पनी अब आगे और विस्तारों, विविधीकरणों के माध्यम से आगे बढ़ने के लिए ध्यान केन्द्रित कर रही है और पणधारकों की संतुष्टि के साथ-साथ संधारणीयता बढ़ा रही है। परिधीय विकास और पर्यावरण संरक्षण पर अतिरिक्त बल दिया जा रहा है।

उन्होंने आगे कहा कि यह कम्पनी वर्तमान एक महत्वाकांक्षी विकास योजना चालू कर रही है, जिसमें आगामी 3 से 4 वर्षों में, केवल एल्यूमिनियम क्षेत्र में ही नहीं, बल्कि ऊर्जा के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय निवेश शामिल होगा। इससे नालको की उत्पादकता और लाभकारिता को एक उल्लेखनीय बढ़ावा मिलेगा।

अपने स्व-प्रेरित विकास को जारी रखते हुए, कम्पनी ने ₹400 करोड़ की अनुमानित परियोजना लागत से एल्यूमिना परिशोधक की 4थी धारा का उन्नयन कार्य पूरा किया, जिससे इसकी क्षमता 21 लाख टन प्रति वर्ष से 22.75 लाख टन प्रतिवर्ष तक और बॉक्साइट खान की क्षमता 63 लाख टन प्रतिवर्ष से 68.25 लाख टन प्रतिवर्ष तक बढ़ गई।

अपनी हरित पहलों के अलावा, यह कम्पनी ₹283 करोड़ के निवेश से जैसलमेर, राजस्थान में 47.6 मेगावाट की द्वितीय पवन विद्युत परियोजना को भी चालू कर चुकी है। 50.4 मेगावाट क्षमता का पहला पवन विद्युत संयंत्र आन्ध्र प्रदेश में 2012-13 में चालू हुआ था। 2013-14 में, इन दोनों संयंत्रों से लगभग 150 मिलियन एकक विद्युत का सृजन हुआ था। वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों का दोहन करने हेतु एक और कदम के रूप में, इस कम्पनी ने निगम कार्यालय भवन में छत पर (160 किलोवाट पीक) सौर ऊर्जा प्रणाली और भुवनेश्वर में उपनगरी के भवनों में छत पर (100 किलोवाट पीक) सौर ऊर्जा प्रणाली चालू की है।

नया उद्यम : निवर्तमान स्रोतों के आगे तलाश

जबकि एक नवरत्न कम्पनी के रूप में एल्यूमिनियम के क्षेत्र में लाभ कमाने तथा एक सफल ट्रेक रिकार्ड को बनाए रखने के प्रयास जारी हैं, निगम प्रतिष्ठा के एक नए स्तर की उपलब्धि के लिए नालको अपने मुख्य प्रचालनों के पार नए क्षेत्र तलाश रही है।   

इन पहलों में से कुछ हैं:

• गुजरात में एल्यूमिना परिशोधक परियोजना

नालको जी.एम.डी.सी.की खानों से बॉक्साइट की आपूर्ति पर आधारित गुजरात के कच्छ जिले में 1 मि.टन प्रतिवर्ष के एल्यूमिना परिशोधक की स्थापना के लिए प्रयास कर रही है, जिसके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाई जा चुकी है। यह परियोजना संयुक्त उद्यम में संचालन की सम्भावना है, जिसके लिए जी.एम.डी.सी. से सम्पर्क किया गया है।

ओड़िशा में द्वितीय प्रद्रावक और ग्र॰वि॰सं॰

एक प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल सुन्दरगढ़, ओड़िशा में स्थापित करने की परिकल्पना की गई है जिसके लिए राज्य सरकार की पारिती मिल गई है। इसे सम्भाव्य बनाने के लिए कम्पनी कोयला ब्लॉक के आबण्टन हेतु प्रयास कर रहीहै।

• कॉस्टिक सोड़ा परियोजना

यह कम्पनी ₹950 करोड़ के अनुमानित निवेश से गुजरात के दहेज में सी.ए.सी.एल. के संयुक्त उद्यम में 2 लाख टन प्रतिवर्ष क्षमता के कॉस्टिक सोड़ा संयंत्र की स्थापना के लिए योजना बना रही है, जिसके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट समीक्षाधीन है।

• एल्यूमिनियम और एल्यूमिनियम अयस्क सुचालक संयंत्र

कम्पनी की एल्यूमिनियम और एल्यूमिनियम अयस्क सुचालकों की स्थापना के लिए योजना है, जिसके लिए तकनीकी-आर्थिक सम्भाव्यता रिपोर्ट (टी.ई.एफ.आर.) प्रस्तुत की गई है। ओड़िशा सरकार ने अनुगुळ एल्यूमिनियम पार्क में सिद्धान्त-रूप में 30 एकड़ भूमि आबंटित की है।

• विदेश में प्रद्रावक:

       कम्पनी ऐसे देश में एक हरित-क्षेत्र एल्यूमिनियम प्रद्रावक की स्थापना के अवसर तलाश कर रही है, जहाँ प्रतियोगितात्मक मूल्य पर ऊर्जा उपलब्ध हो सके ताकि परियोजना सुकर हो सके। जहाज-परिवहन, भारत से दूरी, आवश्यक मात्रा में ऊर्जा की उपलब्धता तथा मूल्य व्यवहार्यता, भौगोलिक-राजनीतिक परिदृश्य, आनुषंगिक सुविधाएँ आदि जैसे कारकों पर विचार करते हुए अब तक 5 देशों को चुना गया है। आवश्यक डैटा/सूचना के लिए चिह्नित देशों के भारतीय दूतावासों से सम्पर्क किया गया है। परियोजना के लिए श्रेष्ठ सम्भव स्थान को निश्चित करने के लिए शीघ्र ही एक सलाहकार की नियुक्ति की जा रही है।

• दामनजोड़ी में 14 मेगावाट का पवन विद्युत संयंत्र

कम्पनी दामनजोड़ी में अपनी बॉक्साइट खान के उत्खनित क्षेत्र में 14 मेगावाट के एक पवन विद्युत संयंत्र की स्थापना के लिए भी आयोजना कर रही है। विस्तृत सम्भाव्यता रिपोर्ट (डीएफआर) प्रस्तुत की जा चुकी है।

• 100 मेगावाट पवन विद्युत संयंत्र

कम्पनी भारत में एक अनुकूल स्थान पर 100 मेगावाट की पवन ऊर्जा परियोजना की स्थापना के लिए भी योजना बना रही है। पवन ऊर्जा विकास कर्ता का चयन किया जा रहा है।

• सौर विद्युत परियोजना

अपने सौर पुनर्नवीकरणीय क्रय अनुबंधों (आरपीओ) को पूरा करने के लिए भारत में किसी अनुकूल अवस्थिति पर उपयुक्त क्षमता का सौर विद्युत संयंत्र स्थापित करने के लिए कम्पनी योजना बना रही है।

• छत पर सौर विद्युत परियोजना

कम्पनी नालको अनुसन्धान एवं प्रौद्योगिकी केन्द्र (एन.आर.टी.सी.) भुवनेश्वर के साथ साथ अनुगुळ में प्रद्रावक और टाउनशिप में भी भूतल पर स्थापित और छत पर सौर विद्युत परियोजना की स्थापना के लिए सम्भाव्यता अध्ययन करा रही है।

नालको फाउण्डेशन

नालको, जबकि अपने कार्य-निष्पादन और उत्पादकता के माध्यम से एक उद्योग नेता बनने का प्रयास कर रही है, एक सन्तुलन बनाए रखे हुए है और पारिस्थितिकी, पर्यावरण और समुदायों के विकास तथा संरक्षण के लिए भी देखभाल कर रही है। निगम सामाजिक उत्तरदायित्व के क्षेत्र में, नालको नालको फाउण्डेशन के माध्यम से अपने संयंत्रों और परिस्थलों के आसपास रहनेवाले समुदायों के जीवन की गुणवत्ता को उन्नत करने के लिए अपनी योजनाओं और प्रक्रियाओं को नये रूप से सक्रिय कर रही है। नालको फाउण्डेशन कम्पनी के दामनजोड़ी स्थित खान एवं एल्यूमिना परिशोधन संकुल और अनुगुळ स्थित प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल से 15 कि.मी. दूरी तक की त्रिज्या क्षेत्र तथा ओड़िशा में पोटांगी और आन्ध्र प्रदेश में गुडेम और केआर कोण्डा में स्थित प्रस्तावित खनन क्षेत्रों के गाँवों के विकास और कल्याण पर ध्यान केन्द्रित करता है

नालको फाउण्डेशन द्वारा हाथ में ली गई कुछ प्रमुख निगम सामाजिक उत्तरदायित्व पहल निम्नवत् हैं:

1. मोबाईल स्वास्थ्य एकक

अच्छी प्रतिक्रिया पर विचार करते हुए नालको ने अपने प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल, अनुगुळ (43 गाँव) और खान एवं परिशोधक संकुल, दामनजोड़ी (142 गाँव) में प्रचालित 06 मोबाईल स्वास्थ्य एकक (एमएचयू) की संख्या को बढ़ाकर 08 कर दिया है। वर्ष के दौरान, कुल 2,463 शिविर संचालित हुए और दामनजोड़ी और अनुगुळ के परिधीय गाँवों के कुल 1,09,166 रोगियों का निःशुल्क उपचार किया गया।

2. दामनजोड़ी के परिधीय गाँवों में रहनेवाले बच्चों की औपचारिक शिक्षा के लिए प्रायोजन

          यह ध्यान में रखते हुए कि शिक्षा प्रदान करना निगम सामाजिक उत्तरदायित्व में श्रेष्ठ निवेश है, नालको ने सम्पूर्ण लागत वहन करते हुए बच्चों को आवासीय स्कूलों में प्रायोजित करने की अनुपम योजना को जारी रखा है। वर्ष के दौरान, और 254 बच्चों को प्रायोजित किया गया। अब तक ₹1.31 करोड़ की लागत से कुल 655 संख्यक विद्यार्थी प्रायोजित किए गए हैं। ये बच्चे कोरापुट जिले के आदिवासी बहुल और माओवादी-पीड़ित इलाके के दामनजोड़ी स्थित नालको के खान एवं एल्यूमिना परिशोधन संकुल के 16 परिधीय गाँवों के हैं।

3.  स्वच्छ भारत मिशन:

यह कम्पनी भारत सरकार द्वारा छेड़े गए स्वच्छ भारत अभियान में एक सक्रिय भागीदार बनने की सहमति दे चुकी है। आरम्भ में, कम्पनी के 15 कि.मी. त्रिज्या के क्षेत्र के लगभग 100 स्कूलों को लड़के एवं लड़कियों के लिए स्वच्छता सुविधाएँ प्रदान करने के लिए चिह्नित किया गया है।.

कार्य-निष्पादन प्रमुख झलकियाँ: 2013-14

  • शुद्ध बिक्री कारोबार ₹.6649 करोड़
  • शुद्ध लाभ ₹642 करोड़
  • ₹3,719 करोड़ की अबतक की सर्वोच्च निर्यात बिक्री
  • 62.93 लाख टन का अबतक का सर्वोच्च बॉक्साइट उत्पादन
  • 19.25 लाख टन का अबतक का सर्वोच्च एल्यूमिना हाईड्रेट उत्पादन
  • 3.16 लाख टन का ढली धातु उत्पादन
  • 4,989 मिलियन एकक का तापज विद्युत सृजन
  • 150 मिलियन एकक का पवन ऊर्जा संयंत्रों के माध्यम से हरित ऊर्जा सृजन

 

नालको के खान & परिशोधन संकुल को ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार मिला।

NALCO’s Mines & Refinery Complex Gets Energy Conservation Award
भुवनेश्वर, 24.09.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम के खान एवं परिशोधन संकुल को ऊर्जा संरक्षण की रंगभूमि में विशेष प्रयास की प्रशंसा में वर्ष 2012 के लिए एल्यूमिनियम क्षेत्र के प्रति विशेष, राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार से नवाजा गया है। यह उल्लेखनीय है कि नालको का खान एवं परिशोधन संकुल, जो कोरापुट, ओड़िशा के दामनजोड़ी में अवस्थित है, वर्ष 2012 में एल्यूमिनियम क्षेत्र में यह पुरस्कार पानेवाले एकमात्र एकक के रूप में उभरा है।


नई दिल्ली में ऊर्जा मंत्रालय के केन्द्रीय विद्युत प्राधिकर सभागार में के दौरान 23 सितम्बर 2014 को आयोजित राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार वितरण समारोह में, कम्पनी की ओर से, श्री व्ही॰ बालसुब्रमण्यम्, कार्यपालक निदेशक (उत्पादन) ने पुरस्कार से श्रीमती नीरजा माथुर, अध्यक्ष, केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) के कर-कमलों से यह पुरस्कार ग्रहण किया।


यह उल्लेखनीय है कि खान एवं परिशोधन संकुल ने वर्ष 2010-11 की तुलना में वर्ष 2011-12 में विशिष्ट विद्युत ऊर्जा खपत में 9.779% की उल्लेखनीय कमी और विशिष्ट तापज ऊर्जा खपत में 2.344% की कमी उपलब्ध की है।

 

नालको पुरस्कृत

NALCO Awarded

भुवनेश्वर, 20.09.2014:  18 से 20 सितम्बर तक बॆंगळूरु में आयोजित भारतीय खनिज उद्योग महासंघ - खनन माज्मा 2014 सम्मेलन-सह-प्रदर्शनी में ‘सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम संवर्ग’ में नालको को श्रेष्ठ प्रदर्शक के रूप में प्रथम पुरस्कार मिला। प्रदर्शनी में, नालको मण्डप में कम्पनी के प्रचालन, उत्पाद और निगम सामाजिक उत्तरदायित्व के क्षेत्र में गतिविधियों को प्रदर्शित किया गया था। प्रदर्शनी के समापन समारोह के दौरान आयोजित समारोह में यह पुरस्कार प्रदान किया गया।


प्रदर्शनी-सह-सम्मेलन को प्रदान किए गए नालको के समर्थन की सराहना में, नालको को प्रयोजक संवर्ग के अन्तर्गत "सम्मान-पुरस्कार" भी प्राप्त हुआ।

 

श्री अंशुमान दास ने प्रतिष्ठित श्री विश्वेश्वरैया पुरस्कार प्राप्त किया।

Shri Ansuman Das receives prestigious Sri Visveswaraya awardभुवनेश्वर, 16.09.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास ने, 15 सितम्बर को कट में आयोजित 47वें इंजीयनियर्स दिवस समारोह में प्रतिष्ठित श्री विश्वेश्वरैया पुरस्कार प्राप्त किया। ओड़िशा इंजीनियर्स फोरम द्वारा संस्थापित यह पुरस्कार, श्री दास ने अपने उत्कृष्ट योगदान एवं पेशेवर श्रेष्ठता के लिए, रेवेन्शॉ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. वैष्णव चरण त्रिपाठी एवं भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश श्री गोपाल वल्लभ पटनाक की उपस्थिति में ओड़िशा सरकार के माननीय उद्योग स्कूल एवं जन शिक्षा मंत्री श्री देवी प्रसाद मिश्र के कर-कमलों से ग्रहण किया।


आर.ई.सी., राउरकेला (अब राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान) से एक मैकेनिकल इंजीनियर, श्री दास एल्यूमिनियम उद्योग के साथ दीर्घ तीन दशकों से अधिक काल से जुड़े रहे हैं और उद्योग मंडलों में जानी-मानी हस्ती हैं तथा अन्क उद्योग संघों में कई प्रमुख पदों पर आसीन हैं। उन्होंने हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड से अपनी आजीविका की शुरूआत की थी और तत्पश्चात् 1982 में नालको में योग किया था।

 

नालको में हिन्दी पखवाड़ा मनाया गया

Hindi Fortnight Celebrated at NALCO

भुवनेश्वर, 15/09/2014:  राजभाषा के रूप में हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए, नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने अपने निगम कार्यालय और परिस्थलों में 1 से 15 सितम्बर 2014 तक हिन्दी पखवाड़ा मनाया। इस अवसर के उपलक्ष्य में, नालको ने अपने कर्मचारियों के बीच हिन्दी निबन्ध, वाद-विवाद, टिप्पणी-लेखन और प्रश्नोत्तरी आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया। निगम कार्यालय में आज आयोजित समारोप दिवस के समारोह में, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको मुख्य ने अतिथि के रूप में पधारकर विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। इस अवसर पर उल्लेखनीय रूप से उपस्थित प्रमुख व्यक्तियों में, श्री एन॰आर॰ महान्ति, निदेशक(परियोजना एवं तकनीकी), श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक(मानव संसाधन), श्री के॰सी॰ सामल, निदेशक(वित्त), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक(वाणिज्य) एवं श्री अशोक कुमार साहु, कार्यपालक निदेशक (मा. व प्र.) शामिल थे। महानुभावों ने उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए दैनन्दिन सरकारी कामकाज में हिन्दी भाषा के कार्यान्वयन पर बल दिया।


श्री सुदर्शन तराई, सहायक महाप्रबन्धक(राजभाषा) ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा हरिराम पंसारी, प्रबन्धक (राजभाषा) ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

 

 

नालको ने बड़ोदरा में नया स्टॉकयार्ड खोला

Nalco opens new stockyard at Vadodaraभुवनेश्वर, 09.09.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), भारत सरकार के नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ने बड़ोदरा में अपना नया स्टॉकयार्ड खोला है। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने कल सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), श्री आर.एन॰ लेंका, कार्यपालक निदेशक (विपणन)-प्रभारी पश्चिम क्षेत्र कार्यालय के प्रतिनिधियों और पश्चिमी क्षेत्र के ग्राहकों की उपस्थिति में स्टॉकयार्ड का उद्घाटन किया। इस स्टॉकयार्ड से नालको ने लगभग 8000 मे॰ट॰ प्रति वर्ष की बिक्री करने की योजना बनाई है और गुजरात में इसके आसपास के ग्राहकों को यहाँ से आपूर्ति की जाएगी।


यह उल्लेखनीय है कि, बड़ोदरा नालको का देश में 10वाँ स्टॉकयार्ड है।

 

नालको ने एम्बुलेटोरी ऑपरेशन थेटर वैन दान की

NALCO donates Ambulatory O.T. Van

भुवनेश्वर, 03.09.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने ओड़िशा सरकार के मत्स्य एवं पशु संसाधन विकास विभाग (एफएआरडी) को एक एम्बुलेटोरी आपरेशन थैटर बैन दान दी है। श्रीमती मानसी दास, अध्यक्ष, नालको लेडिज क्लब, भुवनेश्वर ने आज उप-मंडलीय पशु चिकित्सा अस्पताल, भुवनेश्वर में आयोजित एक समारोह में ओड़िशा सरकार के कृषि, मत्स्य एवं पशु संधान विकास विभाग के माननीय मंत्री श्री प्रदीप महारथी की उपस्थिति में एफएआरडी के आयुक्त-सह-सचिव श्री विष्णुपाद सेठी, आई.ए.एस. को औपचारिक रूप से एम्बुलेटोरी ओ.टी. वैन की चाबी प्रदान की।


इस अवसर पर श्री आर.के॰ मिश्र, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰), नालको, श्री देवी प्रसाद पण्डा, निदेशक, ए.एच.एवं वी.एस. नालको लेडिज क्लब की सदस्या और पदाधिकारी तथा मत्स्य एवं पशु संसाधन विभाग के अधिकारी उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे।

 

नालको ने अनुगुळ में आदर्श पुलिस स्टेशन स्थापित किया

NALCO SETS UP MODEL POLICE STATION AT ANGUL
भुवनेश्वर, 26.08.2014:  एक जिम्मेदार निगम नागरिक के रूप में, नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ने अपने प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल परिसर, अनुगुळ में फर्नीचर और साजो-सामान के साथ नालको टाउनशिप पुलिस स्टेशन की स्थापना के लिए लगभग ₹89 लाख खर्च किए हैं।


24 अगस्त को श्री पी.एस॰ रन्पिसे, आई॰पी॰एस॰, पुलिस महानिरीक्षक (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र), श्री नरसिंह भोई, आई॰पी॰एस॰, पुलिस अधीक्षक, अनुगुळ, श्री एस.के॰ रॉय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत), श्री प्रदोष महान्ति, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰), और अन्य महानुभावों की उपस्थिति में इस आदर्श पुलिस स्टेशन का श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको और श्री संजीव मारिक, आई॰पी॰एस॰ द्वारा संयुक्त रूप से उद्घाटन किया गया। उद्घाटन समारोह के बाद एक सार्वजनिक परिचर्चा और वृक्षारोपण कार्यक्रम संचालित हुआ। सुश्री सारा शर्मा, अपर पुलिस अधीक्षक, अनुगुल ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

 

नालको पर विशेष डाक लिफाफा विमोचित हुआ

Special Postal Cover on Nalco Releasedभुवनेश्वर, 26.08.2014:  ओड़िशा डाक मण्डल द्वारा भुवनेश्वर में आयोजित 9वीं राज्य स्तरीय टिकट-संग्रह (फिलाटेलिक) प्रदर्शनी – ओडिपेक्स 2014 के दौरान, 23 अगस्त,2014 को ओड़िशा मंडल के मुख्य महाडाकपाल सह ओडिपेक्स-2014 के अध्यक्ष श्री तिलक दे द्वारा नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), भारत सरकार के नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम पर एक विशेष डाक लिफाफे का विमोचन किया गया। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने मुख्य अतिथि के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई।


साथ ही, कार्यक्रम के समारोप दिवस को, श्री अमीय भूषण त्रिपाठी (आई॰पी॰एस॰), सेवानिवृत्त महानिदेशक और इनटैक की ओड़िशा शाखा के राज्य संयोजक ने सम्मानित अतिथि के रूप में और डॉ॰ सुदर्शन पण्डा, आई.एफ.एस., निदेशक, नन्दनकानन प्राणीविज्ञान पार्क ने विशेष अतिथि के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई।


नालको पर यह विशेष डाक लिफाफा तीन दशकों की निगम उत्कृष्टता को समर्पित है।

 

नालको ने 19वीं संयंत्र स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की।

2013-14 में सूक्ष्म और लघु उद्योग एककों को ₹294 करोड़ के क्रयादेश जारी किए गए।


Nalco organizes 19th PLAC meetingभुवनेश्वर, 25.08.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लि॰ (नालको), भारत सरकार का एक नवरत्ऩ सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ने आज भुवनेश्वर में 19वीं संयंत्र स्तरीय सलाहकार समिति (पीएलएसी) की बैठक आयोजित की। बैठक अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास की अध्यक्षता में हुई। श्री पंचानन दाश, सचिव, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग, ओड़िशा सरकार, श्री शरत चन्द्र नाइक, विशेष सचिव ओड़िशा, उद्योग विभाग, श्री नित्यानन्द पलाई, आई॰ए॰एस॰, उद्योग निदेशक, ओड़िशा सरकार और सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), नालको इस अवसर पर उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे और उन्होंने राज्य के विभिन्न सूक्ष्म एवं लघु स्तर के साथ साथ सहायक उद्योगों के सदस्यों तथा प्रतिनिधियों के साथ परिचर्चा की।


आरम्भ में, अपने स्वागत भाषण में, सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य) ने स्थानीय सूक्ष्म और लघु उद्योगों के हितों को प्रोत्साहित करने की दिशा में एक मातृ-उद्योग के रूप में नालको की चिन्ता पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर अपने भाषण में, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने कहा कि वैश्वीकरण के सन्दर्भ में यह स्पष्ट है कि सूक्ष्म, लघु उद्योगों को गुणवत्ता अनुरक्षण, लागत प्रतियोगितात्मकता और तकनीकी उन्नयन पर अधिक बल देना होगा। "इसके अतिरिक्त नालको सूक्ष्म व लघु उद्योगों को हर सम्भवन सहायता प्रदान करने के लिए सर्वदा उत्सुक रही है", श्री दास ने आगे कहा। उन्होंने यह भी कहा कि नालको और सूक्ष्म व लघु उद्योग एककों द्वारा उठाए गए ठोस प्रयासों से सम्बन्धित सरकारी संस्थाओं के आवश्यक समर्थन से नालको और सूक्ष्म एवं लघु उद्योग एककों के बीच कारोबार के प्रवाह को ऊँचा उठाने में मदद मिली है। अनुगुळ में निर्मित हो रहे एल्यूमिनियम पार्क पर अपने विचार प्रकट करते हुए, श्री दास ने कहा कि इससे अनुप्रवाह और सहायक उद्योगों को प्रोत्साहन मिलने की आशा है। नालको ने संयुक्त उद्यम कंपनी को 50,000 टन प्रतिवर्ष तप्त धातु की आपूर्ति का वचन दिया है। ओड़िशा आधारित उद्योगों को इसका लाभ उठाना चाहिए।


इस अवसर पर बोलते हुए, श्री पंचानन दाश ने सभी जिला उद्योग केन्द्रों (डीआईसीज) को नालको और सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों के मध्य सरलीकृत करनेवाले के रूप में अधिक सक्रिय बनना चाहिए। इसीप्रकार अन्य महानुभावों ने अपने विचार व्यक्त करते हुए एक मातृ-उद्योग के रूप में नालको की भूमिका की सराहना की और राज्य में सहायक और सूक्ष्म एवं लघु उद्योग एककों को प्रोत्साहित करने की दिशा में कम्पनी की कार्यकारिता पर सन्तोष व्यक्त किया। इस अवसर पर नालको के प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल द्वारा "सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों के लिए के उत्पादों के विवरण" नामक पुस्तका प्रकाशित की गई जिसका विमोचन किया गया। बैठक के दौरान, जबकि श्री बी॰ महान्ति, महाप्रबन्धक, डीआईसी, भुवनेश्वर ने समग्र क्रय सांख्यिकी का विवरण पढ़ा, श्री बी.के. दाश, अपर निदेशक, डीआईसी, कटक ने धन्यवाद ज्ञापन किया।


बैठक के दौरान, सहायक उद्योग एककों को क्रयादेश जारी करने की पद्धति का ब्यौरा स्पष्ट करते हुए नालको अधिकारियों के द्वारा उपस्थापन पेश किए गए। सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों/सहायक उद्योगों से खरीदे जाने के लिए चिह्नित सामान के विवरण भी दिए गए। यहाँ यह उल्लेखनीय है कि नालको ने राज्य के 57 सूक्ष्म एवं लघु उद्यों को सहायक उद्योग की पदवी दी है।


संयंत्र स्तरीय सलाहकार समिति के सदस्यों, ओड़िशा लघु उद्योग निगम, उद्योग निदेशालय, निर्यात प्रवर्धन एवं विपणन (ईपी एवं एम) के साथ साथ ओड़िशा लघु उद्योग संघ, ओड़िशा युवा उद्यमी संघ, ओड़िशा लघु एवं मध्यम उद्योग एसेम्बली, उत्कल चैम्बर ऑफ कॉमर्स एवं इण्डस्ट्रिज के प्रतिनिधियों सहित अन्य महानुभाव इस अवसर पर उपस्थित थे।

 

पिछली तिमाही की तुलना में शुद्ध लाभ 58% बढ़ा

भुवनेश्वर: 14.08.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार की एक नवरत्न कम्पनी, ने जून 2014 को समाप्त प्रथम तिमाही के लिए परिणाम घोषित किए हैं।


नई दिल्ली में 13 अगस्त,2014 को हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में रिकार्ड में लिए गए वर्ष 2014-15 वित्त वर्ष की प्रथम तिमाही के पुनरीक्षित परिणामों के अनुसार, नालको ने ₹271 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो पिछली तिमाही की तुलना में 58% अधिक है।


उत्पादन के मोर्चे पर, तिमाही के दौरान बॉक्साइट एल्यूमिना और एल्यूमिनियम उत्पादन का परिमाण क्रमशः, 14.04 लाख टन, 4.076 लाख टन और 79,240 मे॰ट॰ रहा। घटाए गए उत्पादन स्तर के बावजूद यह कम्पनी कोयला कॉस्टिक सोड़ा आदि की विशिष्ठ खपत में सुधार के चलते उच्चतर लाभ अर्जित करने में समर्थ हुई है।


तिमाही के दौरान प्राथमिक रूप से निर्यात में कुल एल्यूमिना बिक्री 3.15 लाख टन और भारत और विदेशी बाजार दोनों में एल्यूमिनियम बिक्री लगभग 77,400 मे॰ट॰ की हुई।

 

पंचपटमाली बॉक्साइट खान पुरस्कृत

Panchpatmali Bauxite Mines Awardedभुवनेश्वर: 31.07.2014:  नवरत्नै सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम, नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) की ओड़िशा के कोरापुट जिले के पंचपटमाली में अवस्थित अपनी बॉक्साइट खान को फेडरेशन ऑफ इण्डियन मिनरल इण्डस्ट्रीज (फिमि) द्वारा संस्थापित सीताराम रूंगटा सामाजिक जागृति पुरस्कार 2013-14 मिला है।


नालको की ओर से, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने आज नई दिल्ली में फिमि की वार्षिक साधारण बैठक के दौरान भारत सरकार, खान मंत्रालय के सचिव डॉ. अपूप कुमार पुजारी, भा.प्र.से. की उपस्थिति में माननीय केन्द्रीय इस्पात, खान, श्रम और रोजगार मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर के कर कमलों से ट्राफी ग्रहण की श्री संजय कुमार पटनायक, सहायक महाप्रबन्धक (पर्यावरण), बॉक्साइट खान ने प्रमाणपत्र ग्रहण किया। सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य), श्री व्ही॰ बालसुब्रमण्यम्, कार्यपालक निदेशक (उत्पादन) और श्री जीवन महापात्र, सहायक महाप्रबन्धक(समन्वय), सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण विभाग, निगम कार्यालय भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

 

नालको को एफ.आई.ई.ओ. से पूर्व क्षेत्र निर्यात उत्कृष्टता स्वर्ण ट्रॉफी मिली

NALCO bags Eastern Region Export Excellence Gold Trophy from FIEOभुवनेश्वर: 17.07.2014:  नवरत्नउ सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) को भारतीय निर्यात संगठनों के महासंघ (एफ.आई.एफ.ओ.) से प्रीमियर ट्रेडिंग हाउस - गैर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग संवर्ग में पूर्व क्षेत्र निर्यात उत्कृष्टता स्वर्ण ट्रॉफी मिली है।


नालको की ओर से, श्री जी॰ ए. लीण्डेम, सहायक महाप्रबन्धक (विपणन), क्षेत्रीय अधिकारी (पूर्व क्षेत्र), कोलकाता ने आज कोलकाता में एफ.आई.ई.ओ. द्वारा कोलकाता में आयोजित पूर्व क्षेत्र निर्यात उत्कृष्टता पुरस्कार समारोह के दौरान पश्चिम बंगाल सरकार के वित्त एवं वाणिज्य तथा उद्योग मंत्री डॉ. अमित मित्र के कर-कमलों से स्वर्ण ट्राफी ग्रहण की।


यह उल्लेखनीय है कि एफ.आई.ई.ओ. ने देश के पूर्व क्षेत्र से निर्यातकों को प्रोत्साहित और अभिप्रेरित करने के लिए पूर्व क्षेत्र निर्यात उत्कृष्टता पुरस्कारों की शृंखला स्थापित की है।

 

ओड़िशा में टिटानियम स्लैग संयंत्र के लिए नालको और आई.आर.ई.एल. ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

NALCO & IREL signs MoU for Titanium Slag Plant in Odishaभुवनेश्वर: 15.07.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), एक नवरत्नि सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम और भारत के अग्रणी एल्यूमिनियम उत्पादक और निर्यातक ने छत्रपुर, ओड़िशा में ओड़िशा सैंड संकुल में संयुक्त उद्यम में एक लाख टन क्षमता के एक टिटानियम स्लैग संयंत्र की स्थापना के लिए परमाणु ऊर्जा विभाग के अन्तर्गत भारत सरकार के उपक्रम इण्डियन रेयर अर्थ लिमिटेड (आई.आर.ई.एल.) के साथ एक समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।


कल मुम्बई में दोनों कम्पनियों के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास और आई.आर.ई.एल. के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक डॉ. आर.एन. पात्र ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। यह उल्लेखनीय है कि यह परियोजना संयुक्त उद्यम पद्धति में अपेक्षित है जिसका सम्भाव्यता अध्ययन और प्रौद्योगिकी चयन शीघ्र ही किया जाएगा। इस परियोजना में टिटानियम स्लैग का उत्पादन करने के लिए इल्मेनाइट के मूल्यवर्द्धन पर ध्यान दिया जाएगा, जो कि टिटानियम स्पंज और टिटानियम रंजक निर्माण के लिए एक मध्यवर्ती उत्पाद है।

 

नालको को कार्य-निष्पादन उत्कृष्टता पुरस्कार मिला

NALCO gets Performance Excellence Awardभुवनेश्वर: 07.07.2014:  नवरत्नो सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) को 4 जुलाई, 2014 को लोनावला में आयोजित 18वें मुख्य कार्यपालकों के सम्मेलन में भारतीय औद्योगिक अभियांत्रिकी संस्थान से स्वर्ण संवर्ग में कार्य-निष्पादन उत्कृष्टता पुरस्कार-2013 मिला है।


कम्पनी की ओर से, श्री ए॰के॰ साहु, कार्यपालक निदेशक (मा॰ व प्र॰) ने ब्रह्मौस एरोस्पेस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी और प्रबन्ध-निदेशक पद्मभूषण डॉ. शिवतनु पिल्लै के कर-कमलों से यह पुरस्कार ग्रहण किया।


इस तीन-दिवसीय सम्मेलन (4 से 6 जुलाई) में देश के विभिन्न अग्रणी सार्वजनिक तथा निजी क्षेत्र के संगठनों के मुख्य कार्यपालकों तथा निदेशकों ने भाग लिया था। श्री साहु ने परिचर्चा गोष्ठियों और समापन समारोह में सम्मानित अतिथि के रूप में भाग लिया।

 

नालको में वन महोत्सव मनाया गया

Van Mahotsav Celebrated at NALCO

भुवनेश्वर: 07.07.2014:  नवरत्नर सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने एक से सात जुलाई तक राष्ट्र के साथ वन महोत्सव सप्ताह-2014 मनाया। इस सप्ताह के अंश रूप में, नालको के कार्यालयों और परिस्थलों में वृक्षारोपण अभियान और तत्संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए गए।


समारोह के उपलक्ष्य में, नालकोनगर, भुवनेश्वर में, 4 जुलाई को एक वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, श्री एस.एस॰ महापात्र, निदेशक (उत्पादन), श्री एस.सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन), श्री के.सी॰ सामल, निदेशक (वित्त), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य) ने पौधे रोपे। वरिष्ठ अधिकारियों, मान्यताप्राप्त श्रमिक-संघों के प्रतिनिधियों और पदाधिकारियों और अन्य लोगों ने भी इस कार्यक्रम में भाग लिया। वृक्षारोपण कार्यक्रम का संचालन निगम कार्यालय के बागवानी विभाग द्वारा किया गया।


सप्ताह के दौरान खान एवं परिशोधन संकुल, दामनजोड़ी और प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल, अनुगुळ में भी इसी प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए गए।

 

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (उपक्रम), भुवनेश्वर की बैठक आयोजित

TOLIC Meeting at Nalcoभुवनेश्वर: 27.06.2014:  नालको के निगम कार्यालय, नालको भवन, भुवनेश्वर में दिनांक 25.06.2014 (बुधवार) को नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति(उपक्रम) की दूसरी बैठक का आयोजन किया गया। भुवनेश्वर स्थित भारत सरकार के स्वामित्वाधीन उपक्रमों की इस सम्मिलित बैठक की अध्यक्षता नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री अंशुमान दास ने की। भारत सरकार के गृह मन्त्रालयाधीन राजभाषा विभाग द्वारा श्री दास को इस समिति का अध्यक्ष नामित किया गया है। श्री दास ने अपने अध्यक्षीय भाषण में राजभाषा हिन्दी के कार्यान्वयन को त्वरान्वित करने में इस समिति को एक बड़ा मञ्च बताया। इस बैठक में नालको के निदेशक (मानव संसाधन) श्री श्यामा चरण पाढ़ी, कार्यपालक निदेशक (मा.सं.व प्रशा.) श्री अशोक कुमार साहु, भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण, भुवनेश्वर के निदेशक श्री शरद कुमार, राजभाषा विभाग के क्षेत्रीय कार्यान्वयन कार्यालय(पूर्व क्षेत्र) के उप निदेशक (प्रभारी) श्री निर्मल कुमार दुबे उपस्थित थे। समिति के उपाध्यक्ष श्री पाढ़ी ने अपने भाषण में इस समिति को श्रेष्ठ नराकास के रूप में विकसित करने पर बल दिया। श्री साहु ने राजभाषा हिन्दी के प्रचार प्रसार में पारंपरिक परंपरा से हट कर कुछ नयी शैली ईजात करने को कहा जो दूसरों के लिए एक उदाहरण बन सके। श्री दुबे जी ने राजभाषा हिन्दी संबंधी तिमाही प्रगति रिपोर्ट के ऑनलाइन प्रेषण पर बल दिया। बैठक में उपस्थित विभिन्न सदस्य कार्यालयों के प्रतिनिधियों ने राजभाषा के कार्यान्वयन में आ रही समस्याओं का उपस्थापन किया। श्री दुबे जी ने इन समस्याओं के सहज समाधान के उपाय बताए। बैठक के प्रारंभ में निगम कार्यालय के सहायक महाप्रबंधक (राजभाषा) तथा समिति के सदस्य सचिव श्री सुदर्शन तराई ने स्वागत भाषण प्रदान किया एवं नराकास की गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए बैठक का सञ्चालन किया। अंत में नालको के प्रबंधक (राजभाषा) श्री हरिराम पंसारी के धन्यवाद के साथ बैठक की कार्यवाही समाप्त हुई।

 

अनुगुल एल्यूमिनियम पार्क को तप्त धातु की आपूर्ति हेतु नालको ने अपनी वचनबद्धता दोहराई

भुवनेश्वर: 26.06.2014:  खान मंत्रालय, भारत सरकार अधीनस्थ नवरत्नल सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने नालको और ओड़िशा औद्योगिक आनुषंगिक विकास निगम (इडको) के एक संयुक्त उद्यम, प्रस्तावित अनुगुळ एल्यूमिनियम पार्क को तप्त धातु की आपूर्ति की अपनी वचनबद्धता दोहराई है।


यह उल्लेखनीय है कि भारत सरकार का औद्योगिक प्रोन्नति और नीति विभाग अनुगुळ एल्यूमिनियम पार्क में भौतिक आनुषंगिक सुविधाओं और आम उपयोगिताओं के विकास के लिए ₹43 करोड़ की अनुदान-सहायता प्रदान करने के लिए राजी हुआ है। इस सम्मति के बाद, इडको ने इस पार्क में अवस्थित अनुप्रवाह उद्योग एककों को कच्चे माल की समर्थन प्रदान करने के लिए नालको से वचनबद्धता मांगी थी। हालांकि नालको अपने ग्रहीत विद्युत संयंत्र के लिए पर्याप्त कोयले की आपूर्ति पाने में कठिनाइयों के कारण, कम क्षमता पर प्रचालित हो रहा है, कम्पनी अनुगुल एल्यूमिनियम पार्क के अनुप्रवाह उद्योगों की प्रोन्नति के लिए आरम्भिक तौर पर 50,000 टन प्रतिवर्ष पिघले एल्यूमिनियम की आपूर्ति के लिए राजी हुई है।


उत्कल-ई कोयला प्रखंड (नालको को आबंटित) के चालू हो जाने के बाद, नालको इस परिमाण को बढ़ाने पर विचार कर सकती है, जो वर्तमान अनेक बाधाओं के कारण विलम्बित हो चुका है और कम्पनी ने राज्य सरकारी प्राधिकारियों से इन बाधाओं को दूर करने हेतु हस्तक्षेप का अनुरोध किया है।

 

नालको ने पुलिस आयुक्तालय को पेट्रोलिंग वैन दान की

NALCO donates patrolling vans to Police Commissionerateभुवनेश्वर: 25.06.2014:   नवरत्नन सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने पुलिस आयुक्तालय को जरूरतमन्द लोगों की मदद करने और कानून एवं व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने में सहायता करने के लिए पाँच पुलिस नियंत्रण कक्ष (पीसीआर) वैन दान की।


आज यहाँ पुलिस आयुक्तालय के मुख्यालय में ओड़िशा पुलिस के महानिदेशक एवं महानिरीक्षक श्री प्रकाश मिश्र, आई.पी.एस. एवं नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास ने पीसीआर वैनके काफिले को झंडा लहराकर रवाना किया। नालको ने अपने निगम सामाजिक उत्तरदायित्व के अंश रूप में इन पी.सीआर. वैन की लागत की बाबत लगभग ₹ 32 लाख खर्च किए हैं। श्री एस॰एस॰ महापात्र, निदेशक (उत्पादन), श्री एन॰आर॰ महान्ति, निदेशक(परियोजना एवं तकनीकी), श्री एस.सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन), सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक(वाणिज्य) सहित नालको के वरिष्ठ अधिकारी और आयुक्तालय के पुलिस अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।


यह उल्लेखनीय है कि नालको, एक जिम्मेदार निगम नागरिक के रूप में, राज्य प्रशासन को कानून एवं व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने में मदद प्रदान करने के सदा आगे आती रही है। इन 5 पीसीआर वैनों के दान के साथ, कम्पनी पुलिस आयुक्तालय को अबतक कुल 40 पीसीआर वैन दान कर चुकी है।

 

नालको का शुद्ध लाभ ₹.642 करोड़ का हुआ

भुवनेश्वर, 28.05.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अन्तर्गत एक नवरत्नए कम्पनी, ने 2013-14 वित्त वर्ष के लिए अपने वित्तीय परिणाम घोषित किए हैं। नई दिल्ली में आज हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में रिकार्ड में लिए गए वर्ष 2012-13 वित्त वर्ष के अंकेक्षित वित्तीय परिणामों के अनुसार, नालको ने वर्ष के दौरान ₹642 करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जित किया है, जो पिछले वर्ष में उपलब्ध ₹.593 करोड़ की राशि की तुलना में 8% अधिक है। कम्पनी का निर्यात कारोबार अब तक का सर्वोच्च ₹3719 करोड़ का हुआ है।


कम्पनी ने वर्ष 2013-14 के लिए उत्पादन के क्षेत्र में उन्नत कार्य-निष्पादन प्रदर्शित किया है। वर्ष के दौरान, कम्पनी ने 62.93 लाख टन का अबतक का सर्वोच्च बॉक्साइट उत्पादन उपलब्ध किया, जबकि 2012-13 में 54.19 लाख टन का पिछला श्रेष्ठ रिकार्ड उत्पादन उपलब्ध हुआ था। इसी समय, नालको के एल्यूमिना परिशोधक से 19.25 लाख टन एल्यूमिना हाईड्रेट का उत्पादन हुआ, जो 2012-13 में उपलब्ध 18.02 लाख टन के पिछले श्रेष्ठ के विरुद्ध अब तक का सर्वोच्च है।


लेकिन, वर्ष के दौरान, प्रद्रावक के कुछ पॉट शेल्स को सुयोजित रूप से बन्द करने के कारण कम्पनी का धातु उत्पादन में 4.03 लाख टन से सीमान्त रूप से 3.16 लाख टन तक कटौती की गई। कम्पनी के ग्रहीत विद्युत संयंत्र से 4,989 मिलियन एकक का शुद्ध विद्युत सृजन हुआ।


कम्पनी ने पिछले वर्ष में उपलब्ध 9.85 लाख टन के विरुद्ध इस वर्ष 13.43 लाख टन की एल्यूमिना / हाईड्रेट की बिक्री की जो अबतक का सर्वोच्च है। वित्तवर्ष 2012-13 में हुई 4.03 लाख टन के विरुद्ध इस वर्ष कुल धातु बिक्री 3.20 लाख टन की हुई।

 

खान सचिव द्वारा नालको का परिदर्शन

Mines Secretary visits Nalco

भुवनेश्वर, 13.05.2014:  डॉ॰ अनूप कुमार पुजारी, आई॰ए॰एस॰, सचिव, भारत सरकार, खान मंत्रालय ने कल नालको के निगम कार्यालय का परिदर्शन किया। उनके साथ श्री आर॰ श्रीधरन्, आई॰ए॰एस॰, अपर सचिव, खान मंत्रालय, भारत सरकार भी पधारे।


परिदर्शन के दौरान, डॉ॰ पुजारी और श्री श्रीधरन् नालको के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक में परिचर्चा की। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक और कम्पनी के अन्य निदेशकगण भी उपस्थित थे। अपने भाषण में, डॉ॰ पुजारी ने पेशेवर व्यक्तियों के प्रशिक्षण में और राज्य में प्रबन्धन उत्कृष्टता प्रसारित करने की दिशा में योगदान के लिए नालको की भूमिका की सराहना की। उन्होंने कम्पनी के अधिकारियों के साथ विभिन्न मामलों पर भी चर्चा की।


इस अवसर पर बोलते हुए, श्री श्रीधरन् ने नालको जैसे जनाभिमुखी सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम का उदाहरण पेश किया और एक प्रभावी विकास प्रक्षेप-पथ बनाए रखने के लिए कम्पनी की सराहना की। उन्होंने कम्पनी के वरिष्ठ अधिकारियों से भविष्य के लिए गम्भीरता से विचार करने और सफलता की गति को बनाए रखने के लिए प्रौद्योगिकी उन्नयन के मामले में आवश्यक कदम उठाने की सलाह दी।


निगम कार्यालय का परिदर्शन करने के पहले, डॉ॰ पुजारी ने अनुगुळ स्थित नालको के प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल का भी परिदर्शन किया था।

 

नालको ने 16वाँ राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया

NALCO CELEBRATES 16th NATIONAL TECHNOLOGY DAY

भुवनेश्वर, 12.05.2014:  16वें राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के उपलक्ष्य में, नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने अपने निगम कार्यालय आज "भारत के सशक्तीकरण के लिए प्रौद्योगिकी" विषय पर एक व्याख्यान आयोजित किया। जबकि डॉ॰ अनूप कुमार पुजारी, आई॰ए॰एस॰, सचिव, भारत सरकार, खान मंत्रालय ने मुख्य अतिथि के रूप में समारोह की शोभा बढ़ाई, पद्म विभूषण डॉ॰ अनिल काकोडकर, डी.ए.ई. होमी भाभा मुख्य प्रोफेसर और सदस्य – परमाणु ऊर्जा आयोग ने मुख्य वक्ता के रूप में योग दिया। अपने भाषण में, उन्होंने शिक्षण संस्थानों और इन कार्यक्षेत्रों में विद्यार्थियों की रुचि पर आधारित शिक्षा का महत्त्व प्रतिपादित किया। विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवीकरण (एस.टी.आई.) के लिए स्थान पर प्रकाश डालते हुए, उन्होंने विशाल भूमण्डलीय अर्थव्यवस्था के साथ भारत के एस.टी.आई. के संयोग के लिए अभिगम के उद्देश्य का वर्णन किया। उन्होंने आगे बी.ए.आर.सी. की गतिविधियों के उदाहरण देते हुए प्रौद्योगिकीय निर्गम को ग्रामीण क्षेत्रों से जोड़ने पर प्रकाश डाला। निम्न क्षेत्रों के लिए देश में कुछ महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी की आवश्यकताएँ है: पीने का साफ पानी, कृषि मूल्यवर्धन, जैविक रूप से नष्ट होने योग्य कचरे का प्रबन्धन, सौर पम्प/लाइटें, गैर-जीवाश्म विद्युत सृजन, पृथ्वी के प्रचुर संसाधनों से धातु निष्कर्षण आदि।


इस अवसर पर बोलते हुए, डॉ॰ अनूप कुमार पुजारी, सचिव, खान मंत्रालय ने छोटे और बढ़नेवाले नवीकरणों पर महत्व दिया जिससे परिवर्तन आ सके और लाभ मिल सके। इन समस्याओं पर उपयुक्त रूप से ध्यान देने की जरूरत है ताकि इनका कार्यान्वयन होने पर सकारात्मक प्रतिफल मिले, भले ही यह कम मात्रा में हो।


श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने समारोह की अध्यक्षता की और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस का महत्व प्रतिपादित करते हुए अनुसन्धान एवं विकास.पर मनोवृत्ति को बदलने पर बल दिया। उन्होंने एल्यूमिनियम उत्पादकों द्वारा सामना की जा रही चुनौतीपूर्ण बाजार स्थितियों से निपटने के लिए नवीकरणीय विचारधारा के साथ कठिन परिश्रम करने पर भी बल दिया।


अपने भाषण में, श्री एन.आर.महान्ति, निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) ने वर्तमान बाजार का सामना करने के लिए लागत कम करने और कुशलता वृद्धि के लिए अनुसंधान एवं विकास को बढ़ाने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने नालको के कार्यान्वित हो रहे अनुसन्धान एवं विकास केन्द्र के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि अनुसन्धान एवं विकास के परिणाम प्राप्त करने के लिए धैर्य की जरूरत है।


आरम्भ में, श्री एस.के॰ दाश, कार्यपालक निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) ने दोनों अतिथियों का परिचय प्रदान किया और अन्त में डॉ. बी के शतपथी, महाप्रबन्धक (अनुसन्धान एवं विकास) ने धन्यवाद ज्ञापन किया।


नालको कर्मचारियों के साथ, विभिन्न संगठनों के प्रसिद्ध वैज्ञानिक, प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ और अभियन्तागण भी समारोह में उपस्थित थे।

 

"हम लाभार्जन कर रहे हैं, जबकि विश्वव्यापी प्रद्रावक बन्द हो रहे हैं" नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने कहा

 

Shri Ansuman Das, CMD, NALCO, addressing the employees at Angul


From L to R : Shri S.C. Padhy, Director (HR), Shri Ansuman Das, CMD & Shri S.S. Mahapatra, Director (Production)

भुवनेश्वर, 10.05.2014:  “हम लाभार्जन कर रहे हैं, जबकि विश्वव्यापी प्रद्रावक बन्द हो रहे हैं” नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक ने कहा वे कल अनुगुळ में कम्पनी के प्रद्रावक एवं विद्युत संयंत्र के कर्मचारियों को सम्बोधित कर रहे थे। कर्मचारियों के सामूहक प्रयास की सराहना करते हुए, श्री दास ने अपने भाषण में नालको की विकास और संधारणीयता की रणनीति की रूपरेखा प्रस्तत की।


आरम्भ में, श्री दास ने अपनी आशा व्यक्त की कि चालू लीन स्लर्री परियोजना इस वर्ष के अन्त तक पूरी हो जाएगी। इस परियोजना से कम्पनी के ग्रहीत विद्युत संयंत्र की राख के घोल को खाली कोयला खान तक परिवहन करके राख के निपटान की समस्या का समाधान होगा। उत्कल-ई कोयला परियोजना और पोट्टांगी बॉक्साइट खान के आबंटन के बारे में भी समान रूप से आशान्वित थे।


गुजरात में प्रस्तावित एल्यूमिना परिशोधक के मामले में, श्री दास ने जानकारी दी कि नालको ने गुजरात सरकार को अपनी प्रतिभागिता और वचनबद्धता सुनिश्चित करने के लिए 49% शेयरों का प्रस्ताव पेश किया है। इसी बीच, नालको ने संयुक्त उद्यम में विदेशों में प्रद्रावकों की स्थापना करने के लिए 6 देशों, यथा- वियतनाम, मलेशिया, कतर, ओमान और ईरान के राजदूतों से सम्पर्क किया है।


मन्दे एल्यूमिनियम बाजार विश्व और कोयला की कमी के कारण, नालको को अनुगुळ में अपने प्रद्रावक के एक-तिहाई पॉट्स को बन्द करना पड़ा है। किन्तु हाल ही में, कम्पनी ने अपने 631 प्रचालित पॉट्स में 10 पॉट्स और जोड़े हैं। “यह एक छोटा, किन्तु उल्लेखनीय कदम है,” श्री दास ने कहा और कर्मचारियों का आह्वान किया कि आगामी समय के लिए तैयार रहें जब स्थितियाँ वस्तुतः बेहतर होने लगेगीं।


श्री एस॰एस॰ महापात्र, निदेशक (उत्पादन) और श्री एस॰सी॰पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) ने भी सभा को सम्बोधित किया।

 

नालको द्वारा 19वाँ अखिल ओड़िशा गुणवत्ता मंडल सम्मेलन का समारोप

19th All Odisha QC Convention by NALCO Concludes

भुवनेश्वर, 25.04.2014:  नालको द्वारा 23 एवं 24 अप्रैल को नालको नगर, भुवनेश्वर में 19वाँ अखिल ओड़िशा गुणवत्ता मण्डल सम्मेलन का समारोप समारोह आयोजित हुआ। 1996 से नालको द्वारा इस गुणवत्ता मण्डल सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।


समारोप दिवस को, प्रो॰ (डॉ॰) के.सी॰ साहु, पूर्व निदेशक, एनआईटीआईई, मुम्बई और पूर्व विभागाध्यक्ष- आईएमसी, आई॰आई॰टी॰, खड़गपुर, मुख्य अतिथि के रूप में पधारे और विजेता गुणवत्ता मण्डल दलों को पुरस्कार प्रदान किए। नालको ट्रॉफी और स्वर्ण फलक नालको के एल्यूमिना परिशोधक के गुणवत्ता मण्डल ‘ब्लेक डायमण्ड ने जीता’ जबकि एन.टी.पी.सी. तालचेर का गुणवत्ता मण्डल 'दिशा' उप-विजेता बना और रजत फलक जीता। सम्पूर्ण उत्पादक अनुरक्षण मण्डलों में, टाटा स्टील का ओएमक्यू खोण्डबोण्ड खान का 'झलक' विजेता हुआ और स्वर्ण फलक जीता, जबकि बालेश्वर एलॉज का 'शक्ति', उप-विजेता हुआ और रजत फलक जीता। मैंगनीज खान, एफएएमडी, टाटा स्टील का 'डैज्जल' और ओ.सी.एल., सीमेण्ट प्रभाग, राजगांगपुर का 'विबग्योर' गुणवत्ता मण्डलों ने सराहनीय कार्य-निष्पादन के पुरस्कार जीते। कपिलास सीमेण्ट वर्क्स, टांगी; राउरकेला इस्पात संयंत्र; हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड, सुनाबेड़ा; एन.टी.पी.सी., कणिहा और शेष स्टर्लाईट, झारसुगुड़ा के दलों ने विशेष पुरस्कार जीते।


इसके पूर्व, अप्रैल 23 को, श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने सम्मेलन का उद्घाटन किया था और केवल उत्पादन के क्षेत्र ही नहीं बल्कि गतिविधियों के सभी आयामों में गुणवत्ता को उन्नत करने पर प्रकाश डाला था।


समारोप समारोह में, नालको के पूर्व कार्यपालक निदेशक(उत्पादन) श्री विजय दाश, टाटा मोटर्स के पूर्व महाप्रबन्धक श्री चन्द्रेश्वर खान, नालको के कार्यपालक निदेशक(नि॰यो॰ एवं व्या॰वि॰) श्री एस॰पी॰ पटनायक और कार्यपालक निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) श्री एस॰के॰ दाश ने प्रतिभागियों को सम्बोधित किया और अन्य विजेताओं को सम्मानित किया।

 

19वाँ अखिल ओड़िशा गुणवत्ता मंडल सम्मेलन उद्घाटित

भुवनेश्वर, 23.04.2014:  19वें अखिल ओड़िशा गुणवत्ता मण्डल सम्मेलन का आज नालको नगर, भुवनेश्वर में उद्घाटन संपन्न हुआ। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने मुख्य अतिथि के रूप में उद्घाटन समारोह की शोभा बढ़ाई और सम्मेलन का उद्घाटन किया। श्री एस॰एस॰ महापात्र, निदेशक (उत्पादन) और श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) भी इस अवसर पर सम्मानित अतिथि के रूप में उपस्थित थे। साथ ही, सुश्री सोमा मण्डल, निदेशक (वाणिज्य) और श्री एस॰के॰ दाश, कार्यपालक निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी), नालको, भी इस अवसर पर उपस्थित थे। आरम्भ में, श्री व्ही॰ बालसुब्रमण्यम्, कार्यपालक निदेशक(उत्पादन), नालको, ने स्वागत भाषण दिया। इस वर्ष के सम्मेलन की मूल विषय-वस्तु है “गुणवत्ता की दौड़ में, कोई अन्तिम रेखा नहीं है”। इसमें नालको, टाटा स्टील, हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड, एन.टी.पी.सी., भारतीय इस्पात प्राधिकरण आदि सहित 22 संगठनों से 29 गुणवत्ता मंडलों और 5 सम्पूर्ण उत्पादक अनुरक्षण दलों को मिलाकर कुल 34 दल भाग ले रहे हैं। इस दो दिवसीय सम्मेलन में प्रतिभागी दल अपने अपने मामला अध्ययन उपस्थापित करेंगे। यह उल्लेखनीय है कि, ओड़िशा में गुणवत्ता मण्डल अभियान को फैलाने के उद्देश्य से तथा राज्य में प्रचालित श्रेष्ठ गुणवत्ता मण्डलों तथा सम्पूर्ण उत्पादक अनुरक्षण मण्डलों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रतियोगिता हेतु एक मंच प्रदान करने के उद्देश्य से नालको द्वारा 1996 से हर वर्ष इस गुणवत्ता मण्डल सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।


NALCO organizes Health Camp

श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको, आज भुवनेश्वर में 19वें अखिल ओड़िशा गुणवत्ता मण्डल सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए।


NALCO organizes Health Camp

श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको, भुवनेश्वर में से अप्रैल 23 व 24 को आयोजित 19वें अखिल ओड़िशा गुणवत्ता मण्डल सम्म्लेन में प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए।

 

वार्षिक कार्य-निष्पादन: 2013-14

नालको ने अबतक का सर्वोच्च कारोबार एवं विदेशी मुद्रा अर्जन उपलब्ध किया।

Nalco Mines Awarded भुवनेश्वर, 03.04.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक नवरत्नर सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम, ने 2013-14 वर्ष के लिए उत्पादन कार्य-निष्पादन और विदेशी मुद्रा अर्जन में उत्कृष्ट परिणाम दर्ज किए हैं। वर्ष के दौरान, कम्पनी ने ₹3719 करोड़ (अन्तरिम).का रिकार्ड विदेशी मुद्रा अर्जन उपलब्ध किया है। यह उल्लेखनीय है कि फरवरी 2014 में प्रकाशित सार्वजनिक उद्यम विभाग, भारत सरकार के सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण के अनुसार, नालको 2012-13 वर्ष के लिए तृतीय उच्चतम ‘शुद्ध विदेशी मुद्रा अर्जन करनेवाले केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम’ के रूप में उभरा है।


साथ ही, भौतिक कार्य-निष्पादन के क्षेत्र में भी, नालको ने इस वित्त वर्ष के लिए बॉक्साइट और एल्यूमिना उत्पादन में रिकार्ड कार्य-निष्पादन दर्ज किया है। इस कम्पनी ने पिछले वित्तवर्ष में उपलब्ध 54.19 लाख टन के पिछले श्रेष्ठ रिकार्ड के विरुद्ध, इस वर्ष 62.93 लाख टन का अबतक का सर्वोच्च बॉक्साइट उत्पादन उपलब्ध किया। इसी समय, नालको के एल्यूमिना परिशोधक से 19.25 लाख टन एल्यूमिना हाईड्रेट का उत्पादन हुआ, जो 2012-13 में उपलब्ध 18.02 लाख टन के पिछले श्रेष्ठ के विरुद्ध अब तक का सर्वोच्च है। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको, के अनुसार वर्ष के दौरान, लन्दन धातु बाजार में घटे हुए मूल्यों के कारण कम्पनी ने (कुल 960 पॉट्स में से) लगभग 300 पॉट्स को सुयोजित रूप से बन्द करके कम्पनी के धातु उत्पादन में 4.03 लाख टन से 3.16 लाख टन तक की कमी की। इसके साथ श्री दास ने कहा कि “मंहगे आयातित कोयले का उपयोग करके अधिक धातु का उत्पादन करना व्यावसायिक दृष्टि से व्यवहार्य नहीं था।” कम्पनी के ग्रहीत विद्युत संयंत्र से 4,989 मिलियन एकक का शुद्ध विद्युत सृजन हुआ।


कम्पनी ने पिछले वर्ष में उपलब्ध 9.83 लाख टन के विरुद्ध 13.42 लाख टन की एल्यूमिना / हाईड्रेट की बिक्री की जो अबतक का सर्वोच्च है। वित्तवर्ष 2012-13 में हुई 4.03 लाख टन के विरुद्ध कुल धातु बिक्री 3.20 लाख टन की हुई।

 

नालको ने स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया

NALCO organizes Health Camp

भुवनेश्वर, 31.03.2014:  नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने कल भुवनेश्वर के बाहरी इलाके में स्थित भिंगारपुर गाँव में एक निःशुल्क स्वास्थ्य जाँच और औषधि वितरण शिविर आयोजित किया।


यह शिविर गंगेश्वर उच्च प्राथमिक स्कूल के परिसर में आयोजित किया गया जिसमें आसपास के गाँवों से लगभग 400 रोगियों ने लाभ उठाया।


नालको की ओर से डॉ॰ एल॰शतपथी और डॉ. ए.के. छोटराय के नेतृत्व में एक दल ने शिविर का संचालन किया। श्री एकादशी साहू, श्री क.के॰ पत्री, श्री आर.के॰ बेहेरा, सुश्री विष्णुप्रिया मिश्र और श्री भोलानाथ पाईकराय सहित नालको स्टाफ ने इस दल का सहयोग किया।

 

नालको खान पुरस्कृत

Nalco Mines Awarded

भुवनेश्वर, 31.03.2014:  नवरत्नव सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) की पंचपटमाली बॉक्साइट खान, जो ओड़िशा के कोरापुट जिले में अवस्थित है, को कल यहाँ भुवनेश्वर में आयोजित 16वें खान पर्यावरण एवं खनिज संरक्षण सप्ताह (एमईएमसी) – 2013-14 के समापन समारोह में पुरस्कृत किया गया। पंचपटमाली बॉक्साइट खान को सम्पूर्ण यांत्रिक खान के संवर्ग में (केन्दूझर और सुन्दरगढ़ के अलावा) मृत्तिक प्रबन्धन में प्रथम पुरस्कार, वनीकरण में प्रथम पुरस्कार, उद्धार एवं पुनर्वास में द्वितीय पुरस्कार और समग्र-कार्य-निष्पादन में द्वितीय पुरस्कार मिला।


यह उल्लेखनीय है कि भारतीय खान ब्यूरो (भुवनेश्वर क्षेत्र) के तत्वावधान में एम.ई.एम.सी. सप्ताह प्रतिवर्ष मनाया जाता है, जिसमें विभिन्न प्रतिभागी खानों के दलों का निरीक्षण और मूल्यांकन किया जाता है।

 

नालको ने उच्चतर उत्पादन और बिक्री के लिए मंत्रालय के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।


NALCO inks MoU with Ministry for Higher Production & Sales भुवनेश्वर, 22/03/2014:  नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने खान मंत्रालय, भारत सरकार के साथ वित्त वर्ष 2014-15 के लिये वित्तीय एवं गैर-वित्तीय लक्ष्यों के बारे में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौता ज्ञापन पर सचिव, खान मंत्रालय डॉ॰ अनूप कुमार पुजारी, आई॰ए॰एस॰, और नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास ने श्री आर॰ श्रीधरन्, आई॰ए॰एस॰, अपर सचिव, श्री अरुण कुमार, आई॰ए॰एस॰, संयुक्त सचिव और मंत्रालय तथा नालको के अन्य अधिकारीगण की उपस्थिति में कल नई दिल्ली में हस्ताक्षर किए। समझौता ज्ञापन के अनुसार ₹6,925 करोड़ के शुद्ध बिक्री कारोबार का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। भौतिक कार्य-निष्पादन के सम्बन्ध में, नालको का 68.25 लाख टन बॉक्साइट, 21.65 लाख टन एल्युमिना, 3.15 लाख टन एल्युमिनियम और 5001 मिलियन एकक विद्युत सृजन का .वार्षिक उत्पादन लक्ष्य है।


नई पहल के सम्बन्ध में, प्रस्तावित प्रमुख मील के पत्थर होंगे देश में किसी अनुकूल अवस्थिति में 100 मेगावाट क्षमता का एक नया पवन विद्युत संयंत्र और निगम कार्यालय, भुवनेश्वर की छत पर एक सौर विद्युत परियोजना को चालू करना। यह उल्लेखनीय है कि नालको ने अपने अनुगुल स्थित ग्रहीत विद्युत संयंत्र से सृजित उड़नशील राख के 70% का उपयोग करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। साथ ही, मितव्ययिता के उपाय के रूप में, नालको ने प्रशासनिक खर्च में वित्त वर्ष 2014-15 में पिछले वर्ष से 5% की कमी करने का लक्ष्य रखा है।


अपनी निगम सामाजिक उत्तरदायित्व गतिविधि के भाग के रूप में नालको खान और परिशोधन संकुल के परिधीय गाँवों के आदिवासी बच्चों को आवासीय विद्यालयों में निःशुल्क शिक्षा प्रदान करना जारी रखेगी।

 

नालको निगम कार्यालय के लिये सौर विद्युत

Rooftop Solar Project

भुवनेश्वर, 12/03/2014: हरित पहल के अंश रूप में, नवरत्ने सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) द्वारा अपने भुवनेश्वर स्थित निगम कार्यालय भवन की छत पर 160 किलोवाट पीक (केडब्ल्यूपी) की सौर विद्युत परियोजना फोटोवोल्टिक प्रणाली से जुड़ी ग्रिड की स्थापना की जा रही है।


इस परियोजना की स्थापना-गतिविधि का आज नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध निदेशक श्री अंशुमान दास द्वारा औपचारिक रूप से शुभारम्भ किया गया। इस परियोजना से प्रतिवर्ष लगभग 2.10 लाख एकक हरित अक्षय ऊर्जा का सृजन होने की आशा है। इसकी पूँजी लागत के 30% का अनुदान केन्द्र सरकार द्वारा भारतीय सौर ऊर्जा निगम लि॰ (एस.ई.सी.आई.) द्वारा प्रदान किया जाएगा।


यह उल्लेखनीय है कि गैर-परम्परागत और पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा स्रोंतों के दोहन के द्वारा संधारणीय विकास को बढ़ावा देने के अपने प्रयासों में नालको द्वारा आन्ध्र प्रदेश के गण्डीकोटा और राजस्थान के लुडर्वा में क्रमशः 50.4 मेगावाट और 47.6 मेगावाट क्षमता के दो पवन विद्युत संयंत्र चालू किए जा चुके हैं। साथ ही, कोरापुट में पंचपटमाली बॉक्साइट भण्डार में अपने उत्खनित क्षेत्रों में तीसरे पवन विद्युत संयंत्र की स्थापना करने की योजना जारी है।

 

सुश्री सोमा मण्डल ने नालको के निदेशक (वाणिज्य) का पदभार संभाला

Ms Soma Mondalभुवनेश्वर, 12/03/2014: सुश्री सोमा मण्डल को नवरत्नि सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) के नए निदेशक (वाणिज्य) के पद पर नियुक्त किया गया है। इस नए पदभार के पूर्व, सुश्री मण्डल इस कम्पनी में नालको निगम कार्यालय में कार्यपालक निदेशक (विपणन) के पद पर सेवारत थीं।


आर.ई.सी., राउरकेला (अब नेशनल इन्स्टीच्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी) से विद्युत इंजीनियरिंग में स्नातक डिग्री लेने के बाद सुश्री मण्डल ने नालको में 1984 में स्नातक अभियन्ता प्रशिक्षु के रूप में योग किया था। बिक्री और विपणन में गहन अनुभव के साथ, सुश्री मण्डल ने कम्पनी के पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्रीय कार्यालयों में विभिन्न क्षमताओं पर कार्य किया और देशीय बिक्री, निर्यात और नए उत्पादों के प्रचलन में विभिन्न रणनीतियों की अभिकल्पना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह उल्लेखनीय है कि सुश्री सोमा मण्डल कम्पनी की पहली महिला कर्मचारी हैं, जो निदेशक के पद तक पदोन्नत हुई हैं। निदेशक (वाणिज्य) के रूप में उनके आगमन से नालको निदेशक-मंडल और सुदृढ़ हुआ है।

 

श्री अंशुमान दास सी.आई.आई. (ओड़िशा) के अध्यक्ष निर्वाचित

Shri Ansuman Dasभुवनेश्वर, 22/02/2014: आज भुवनेश्वर में आयोजित भारतीय उद्योग महासंघ (सी.आी.आई.) की ओड़िशा शाखा की वार्षिक साधारण बैठक में नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) के अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक श्री अंशुमान दास सर्व-सम्मति से सी.आई.आई., ओड़िशा शाखा के अध्यक्ष निर्वाचित हुए।


श्री दास ने श्री एम॰के॰ गुप्त के बाद, उद्योगों की शीर्ष संस्था के अध्यक्ष का पदभार संभाला है।


आर.ई.सी., राउरकेला (अब राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान) से एक मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिग्रीधारी श्री दास ने हल्ल विश्वविद्यालय, यू॰के॰ से एक ब्रिटिश काउन्सिल छात्रवृत्ति सहित एम.बी.ए. की डिग्री हासिल की थी। श्री दास ने हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड से अपनी आजीविका की शुरूआत की थी और तत्पश्चात् 1982 में नालको में योग किया था और नालको में अनेक क्षमताओं का कार्यभार सम्भाला। एल्युमिनियम उद्योग के साथ अपनी तीन दशकों से अधिक की दीर्घ पेशेवर सम्बद्धता के साथ श्री दास उद्योग-मंडलों में सुप्रसिद्ध हस्ती हैं।

 

नालको ने पंजीकृत ग्रामीणों के लिए अनुगुळ में निःशुल्क वाह्य रोगी चिकित्सा केन्द्र खोला

Nalco opens free OPD Centre at Angul for registered villagersभुवनेश्वर, 19/02/2014: नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) के प्रद्रावक एवं विद्युत संकुल द्वारा अपने परिधीय विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत अनुगुळ में निकटवर्ती क्षेत्रों में रहनेवाले पंजीकृत ग्रामीणों के लाभ के लिए एक वाह्य रोगी चिकित्सा केन्द्र खोला है। इस केन्द्र में चिकित्सा जाँच के बाद, रोगियों को निःशुल्क औषधियाँ प्रदान की जाएँगी। कम्पनी के द्वारा चलाए जा रहे निवर्तमान मोबाईल स्वास्थ्य एककों के अलावा यह चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई है।


पंजीकरण अभियान आज तुलसीपाल गाँव में आरम्भ किया गया। श्री सचिन जाधव, जिलाधीश, अनुगुळ, श्री एस॰के॰.रॉय, कार्यपालक निदेशक (प्रद्रावक एवं विद्युत), नालको, श्री प्रदोष महान्ति, महाप्रबन्धक (मा॰ व प्र॰), नालको और सुश्री सुजाता शुभदर्शिनी, बी.डी.ओ, बानरपाल ने ग्रामीणों को स्वास्थ्य कार्ड वितरित किए। श्री अनिल भट्ट, उप-महाप्रबन्धक (परिधीय विकास एवं जनसम्पर्क) ने कार्ड के वितरण का संचालन किया।

 

नालको द्वारा हरित उद्यम द्वितीय पवन विद्युत परियोजना चालू हुई

2nd Wind Power Project Commissionedभुवनेश्वर, 01/02/2014: अपनी विविधीकरण योजनाओं के अंश रूप में, नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), एक नवरत्नक सार्वजनिक उद्यम, अन्य धातुओं और ऊर्जा के क्षेत्र में अपने पंख फैला रही है। इस सन्दर्भ में, इस कम्पनी ने राजस्थान के जैसलमेर जिले के लुडर्वा में 47.6 मेगावाट क्षमता का अपना दूसरा पवन विद्युत संयंत्र स्थापित किया है। नालको ने यह पवन विद्युत परियोजना पर 29 जनवरी 2014 को सफलतापूर्वक चालू की।


रु॰283 करोड़ की यह पवन विद्युत परियोजना मेसर्स गेमेसा विण्ड टर्बाईन्स प्राईवेट लि. के माध्यम से कार्यान्वित हुई है, जिसमें 850 किलोवाट रेटिंग के 56 पवन टर्बाईनों का विनिर्माण शामिल है। चालू करने के प्रथम चरण में, 36 टर्बाईनों का निर्माण किया गया था। अब, दूसरे चरण में, शेष 20 टर्बाईन सफलतापूर्वक चालू कर दिए गए हैं।


गैर-परम्परागत और पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों के दोहन के द्वारा संधारणीय विकास को बढ़ावा देने की दिशा में नालको की यह दूसरी हरित पहल है, जिससे नालको को सरकार से प्रोत्साहन मिलेंगे।


इसके पूर्व, इस कम्पनी ने रु॰.274 करोड़ की लागत से आन्ध्र प्रदेश के कड़प्पा जिले के गंडीकोटा में 50.4 मेगावाट क्षमता का अपना पहला पवन विद्युत संयंत्र दिसम्बर, 2012 को चालू किया था।


साथ ही, कम्पनी कोरापुट में पंचपटमाली बॉक्साइट भण्डार में अपने उत्खनित क्षेत्रों में तीसरे पवन विद्युत संयंत्र की स्थापना करने की योजना बना रही है।

 

नालको की तीसरी तिमाही का शुद्ध लाभ: रु॰ 131 करोड़ शुद्ध बिक्री: रु॰1621 करोड़

भुवनेश्वर, 29/01/2014: नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार की एक नवरत्नक कम्पनी, ने दिसम्बर 2013 को समाप्त तीसरी तिमाही के लिए परिणाम घोषित किए हैं।


नई दिल्ली में आज हुई कम्पनी के निदेशक-मण्डल की बैठक में रिकार्ड में लिए गए वर्ष 2013-14 वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के पुनरीक्षित परिणामों के अनुसार, नालको ने रु.131 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की सम्बन्धित तिमाही के दौरान उपलब्ध रु.119 करोड़ की राशि से 10% अधिक है।


दिसम्बर 2013 को समाप्त 9 महीनों के लिए शुद्ध लाभ रु॰470 करोड़ का हुआ, जबकि पिछले वित्त वर्ष की तत्समान अवधि में रु॰347 करोड़ का लाभ हुआ था, अर्थात् 35% बढ़ोतरी हुई है।


उत्पादन के मोर्चे पर, प्रथम नौ महीनों के दौरान, नालको ने पिछले वित्त वर्ष की तुलनीय अवधि में उपलब्ध 12.70 लाख टन के मुकाबले 14.26 लाख टन एल्युमिना हाईड्रेट का उत्पादन किया, जो 12.2% की वृद्धि दर्शाता है। लेकिन, एल्युमिनियम धातु का उत्पादन पिछले वर्ष के नौ महीनों की तुलनीय अवधि के दौरान दर्ज किए गए 3.05 लाख टन के विरुद्ध 2.38 लाख टन का हुआ। पिछले वर्ष की संबंधित अवधि में उपलब्ध 4,582 मि॰यू॰ की तुलना में विद्युत सृजन 3,760 मि॰यू॰ का ही हुआ। 2013-14 की तीसरी तिमाही में, एल्युमिना हाईड्रेट उत्पादन पिछले वर्ष की संबंधित तिमाही में उपलब्ध 3.97 लाख की तुलना में, 4.66 लाख टन का हुआ, जो 17.4% बढ़ोतरी दर्शाता है। इस वित्तवर्ष की तीसरी तिमाही में धातु उत्पादन पिछले वर्ष की उसी तिमाही में उपलब्ध 1.00 लाख टन के विरुद्ध घटकर 0.79 लाख टन तक रहा। इस तिमाही में विद्युत सृजन 1,249 मि॰यू॰ हुआ, जबकि पिछले वर्ष की संबंधित तिमाही में 1,525 मि॰यू॰ हुआ था।

 

नालको द्वारा पुष्प प्रदर्शनी

Flower Show by Nalcoभुवनेश्वर, 20/01/2014: नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) द्वारा नालकोनगर, भुवनेश्वर में 18 और 19 जनवरी, 2014 को अपनी वार्षिक पुष्प एवं वनस्पति प्रदर्शनी “बसन्त पुष्प प्रदर्शनी” का आयोजन किया गया। विभिन्न वर्गों में प्रदर्शनी में कुल 24 संस्थाओं और 100 व्यक्तियों ने भाग लिया।


डॉ॰ अरविन्द कुमार पाढ़ी, आई॰ए॰एस॰, आर.डी.सी. (केन्द्री. मण्डल) ने कल समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पधार कर शोभा बढ़ाई। श्री विजय केतन पटनायक, अध्यक्ष, ओड़िशा राज्य पर्यावरण प्रभाव मूल्यांकन प्राधिकरण इस अवसर पर सम्मानित अतिथि के रूप में पधारे। श्री एस॰सी॰ पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) और श्री ए॰के॰ साहु, कार्यपालक निदेशक (मा॰ एवं प्र॰) भी इस अवसर पर उपस्थित थे और उन्होंने विभिन्न वर्गों में विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। संस्थाओं में सी.वी. रमण कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग चैम्पियन हुआ तथा व्यक्तिगत वर्ग में कुमारी गार्गी कौल विजेता हुईं।


इसके पूर्व, श्रीमती मानसी दास, अध्यक्ष, नालको लेडिज क्लब, भुवनेश्वर ने नालको के वरिष्ठ अधिकारियों और नालको लेडिज क्लब की सदस्याओं की उपस्थिति में प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

 

ओड़िशा धातुअयस्क खान सुरक्षा सप्ताह मनाया गया

Mines Safety Weekभुवनेश्वर, 13/01/2014: ओड़िशा धातु-अयस्क खान सुरक्षा सप्ताह (खान सुरक्षा महानिदेशालय के तत्त्वावधान के अन्तर्गत) का भुवनेश्वर में समारोप समारोह आयोजित हुआ। समापन समारोह में श्री अनूप विश्वास, उप-निदेशक, खान सुरक्षा (एस.ई.जेड.), राँची ने मुख्य अतिथि के रूप में शोभा बढ़ाई तथा श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, नालको ने अध्यक्षता की।


श्री एस॰एन॰ पाढ़ी, पूर्व-महानिदेशक, खान सुरक्षा, भारत सरकार को खानों में सुरक्षा और कल्याण उपायों को बढ़ावा देने के लिए असाधारण योगदान के लिए "जीवनकाल उपलब्ध पुरस्कार" से सम्मानित किया गया।


यह उल्लेखनीय है कि खानों में सुरक्षा और कल्याण उपायों को बढ़ावा देने के लिए महानिदेशक, खान सुरक्षा, भारत सरकार के विशेष अभियान के अंश रूप में यह वार्षिक विशाल आयोजन किया जाता है। नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) की पंचपटमाली खान ने इस विशेष आयोजन की मेजबानी की। इस वर्ष, निदेशक, खान सुरक्षा, भुवनेश्वर क्षेत्र के अधिकार-क्षेत्र के अन्तर्गत कुल 21 खानों ने 9 दिसम्बर 2013 से 21 दिसम्बर 2013 तक मनाए गए सुरक्षा सप्ताह समारोह में भाग लिया। इस अवधि के दौरान विभिन्न संवर्गों में प्रतियोगिताओँ का आयोजन किया गया और खानों में विभिन्न सुरक्षा और कल्याण उपायों गए के कार्यान्वयन पर ध्यान-केन्द्रित करने के लिए खान निरीक्षण भी किए।


खानों में सुरक्षा और कल्याण उपायों के कार्यान्वयन और प्रोत्साहन में उत्कृष्ट योगदानों के लिए श्री डी॰के॰ महान्ति, महाप्रबन्धक(खान)-प्रभारी, पंचपटमाली बॉक्साइट खान, नालको को श्रेष्ठ कार्यपालक का पुरस्कार तथा श्री विजय कुमार साहु, चार्जमैन (मैकेनिकल), सुकिन्दा क्रोमाईट खान, टाटा इस्पात को श्रेष्ठ कामगार का पुरस्कार प्रदान किया गया।


नालको की पंचपटमाली बॉक्साइट खान को उच्च यांत्रिकीकृत खान संवर्ग में समग्रतः श्रेष्ठ खान के रूप में, मेसर्स इम्फा की सुकिन्दा खान(क्रोमाईट) खान को वर्ग-ख में तथा क्रोसाही रिफ्रेक्ट लिमिटेड की छुईंपल्ली क्वार्टजाइट खान को वर्ग-घ संवर्गों में समग्रतः श्रेष्ठ खान के रूप घोषित किया गया।


पुरस्कार वितरण समारोह श्री आर॰ सुब्रमण्यम्, निदेशक, खान सुरक्षा, श्री एस॰एस॰ महापात्र, निदेशक (उत्पादन), नालको, श्री आर॰के॰ मिश्र, कार्यपालक निदेशक (खान एवं परिशोधक), नालको और श्री अरविन्द कुमार, उप निदेशक, खान सुरक्षा की उपस्थित में संपन्न हुआ।

 

श्री के॰.सी॰ सामल: नालको के नए निदेशक (वित्त)

Shri K.C. Samal: Nalco’s New Director (Finance)भुवनेश्वर, 06.01.2014 : श्री के॰सी॰ सामल ने 3 जनवरी, 2014 को नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) में निदेशक (वित्त) का कार्यभार संभाल लिया है। इसके पहले, वे कम्पनी में कार्यपालक निदेशक (वित्त) के पद पर कार्यरत थे।


इन्स्टीच्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउण्टेण्ट्स ऑफ इण्डिया के एक सदस्य, श्री सामल को कोषागार क्रियाकलापों, विदेशी मुद्रा प्रबन्धन, निगम लेखा, बजटिंग और नियन्त्रण आदि विभिन्न वित्तीय क्षेत्रों का व्यापक अनुभव है।


वित्त विभागों के वृहद-स्तरीय कम्प्यूटरीकरण, विदेशी मुद्रा प्रबन्धन, विदेशी मुद्रा विवरणों के विरुद्ध जोखिम प्रबन्धन के प्रचलन में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। एक्स.आई.एम.बी., उत्कल विश्वविद्यालय, के.आई.आई.टी., आई.सी.ए.आई. जैसे विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में अतिथि संकाय के रूप में भी वे जुड़े रहे हैं।


संयुक्त उद्यम कम्पनी – अनुगुळ एल्युमिनियम पार्क लि॰ और ए.पी.सी.आई.एल.-नालको विद्युत कम्पनी लि॰ के निदेशक-मंडल में वे नालको का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। वे केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के समझौता ज्ञापन प्रणाली की संस्थापना का एक अंग रहे थे।

 

नालको ने वित्तवर्ष 2012-13 के लिए "उत्कृष्ट" दर उपलब्ध की

भुवनेश्वर, 27/12/2013: खान मंत्रालय, भारत सरकार के साथ हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन के सन्दर्भ में नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) को 2012-13 में अच्छे कार्य-निष्पादन के लिए सार्वजनिक उद्यम विभाग द्वारा 1.5 अंक का "उत्कृष्ट" समझौता ज्ञापन स्कोर प्रदान किया गया है। नालको को इसके पहले वित्त वर्ष 2006-07 में "उत्कृष्ट" समझौता-ज्ञापन स्कोर मिला था। साथ ही, वित्त वर्ष 2012-13 के दौरान, नालको को केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के लिए निगम अभिशासन के मार्गनिर्देशों के अनुपालन के लिए भी 97.5 अंकों के साथ "उत्कृष्ट" दर प्रदान की गई है।


वित्त वर्ष 2012-13 के दौरान नालको ने रु॰.7073 करोड़ के लक्ष्य के विरुद्ध रु॰.7247 करोड़ की अब तक की सर्वोच्च शुद्ध बिक्री उपलब्ध की। यह समझौता ज्ञापन लक्ष्य पर 2.46% की वृद्धि दर्शाता है। कम्पनी ने वित्त वर्ष 2012-13 में 4,03,102 टन की धातु बिक्री तथा 9,84,722 टन की एल्यूमिना बिक्री के साथ रु॰ 593 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया है। नालको ने 2012-13 में अब तक का सर्वोच्च 54.19 लाख टन का बॉक्साइट और अबतक का सर्वोच्च 18.02 लाख टन का एल्युमिना उत्पादन उपलब्ध किया। इस अवधि के दौरान, कम्पनी ने अपने ग्रहीत विद्युत संयंत्र से 6076 युनिट विद्युत भी सृजित की।


इसके अतिरिक्त, निगम सामाजिक उत्तरदायित्व, संधारणीय विकास और अनुसन्धान एवं विकास की दिशा में नालको की उल्लेखनीय उपलब्धियों और गतिविधियों ने भी कम्पनी को उत्कृष्ट दर दिलाने में योगदान किया।


यह उल्लेखनीय है कि समझौता ज्ञापन के अंश रूप में पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों के दोहन के लिए नालको ने रु॰ 274 करोड़ के निवेश से आन्ध्र प्रदेश के गण्डीकोटा में 50.4 मेगावाट क्षमता का पवन विद्युत संयंत्र चालू करके पवन ऊर्जा सृजन के नए कारोबार में प्रवेश किया, जो दिसम्बर-2012 में समकामिक हुआ और विद्युत की बिक्री आरम्भ हो चुकी है।

 

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (उपक्रम) की बैठक

TOLIC Meeting at Nalcoभुवनेश्वार, 23/12/2013: आज यहाँ नालको के संयोजन में भारत सरकार के राजभाषा विभाग के अन्तर्गत नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (उपक्रम), भुवनेश्वनर की पहली बैठक का आयोजन किया गया। नालको के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री अंशुमान दास ने बैठक की अध्यक्षता की। श्री श्यामा चरण पाढ़ी, निदेशक (मानव संसाधन) तथा समिति के उपाध्यक्ष, श्री अशोक कुमार साहु, कार्यपालक निदेशक (मा.सं. एवं प्रशा.) और श्री हरीश चन्द्र प्रधान, महाप्रबंधक (प्रशा. व नि.सं.) ने अपनी उपस्थिति से बैठक की शोभा बढ़ायी।


इस बैठक में भारत संचार निगम, विमान पत्तन प्राधिकरण, राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम, राईट्स, राष्ट्रीय इस्पात निगम लि., बीमा कम्पनियों, तेल कम्पनियों आदि विविध सार्वजनिक उपक्रमों से लगभग 32 प्रतिनिधियों ने भाग लिया।


समिति के सदस्य सचिव श्री सुदर्शन तराई ने स्वागत भाषण प्रदान किया एवं नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति के लक्ष्य व उद्देश्य पर प्रकाश डाला। बैठक की कार्यवाही में नगर में राजभाषा के रूप में हिन्दी को लोकप्रिय बनाने के लिए संयुक्त कार्यक्रमों पर विचार विमर्श किया गया एवं दैनंदिन कार्यालयीन गतिविधियों में हिन्दी के प्रगामी प्रयोग को बढ़ावा देने पर बल दिया गया।

 

नालको ने स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया

NALCO organizes Health Campभुवनेश्वर, 12/12/2013: नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको) ने गत रविवार को खुर्दा जिले के कुआपदा में एक निःशुल्क स्वास्थ्य जाँच और औषधि वितरण शिविर आयोजित किया। यह शिविर कुआपदा उच्च प्राथमिक स्कूल के परिसर में आयोजित किया गया जिसमें आसपास के गाँवों से 478 रोगियों ने लाभ उठाया।


नालको के मेडिकल एवं पैरा-मेडिकल दल का नेतृत्व डॉ॰ एल॰शतपथी, डॉ॰ जे॰ पण्डा और डॉ॰ ए॰के॰ छोटराय ने संभाला।

 

नालको ने अनुसन्धान एवं विकास प्रक्रिया व्यावसायिक बनाई

NALCO Commercializes R&D Processभुवनेश्वर, 10/12/2013: अनुसंधान एवं विकास के क्षेत्र में एक बड़े कदम के रूप में, नेशनल एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड (नालको), खान मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक नवरत्न सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम ने "भुक्त पॉट लाइनिंग सामग्री (एसपीएल) से विषाक्त साईनाईड को नष्ट करने के लिए ताप उपचार प्रक्रिया के विकास और मूल्यवान वस्तुओं की पुनःप्राप्ति" नामक प्रयोगशाला स्तरीय अनुसन्धान एवं विकास प्रक्रिया का मेसर्स ग्रीन एनर्जी रिसोर्सेस, ओड़िशा को व्यावसायिकरण किया है।


इस सम्बन्ध में, नालको और मेसर्स ग्रीन एनर्जी रिसोर्सेस के मध्य आज एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। कम्पनी की ओर से, श्री एस॰के॰ दाश, कार्यपालक निदेशक (परियोजना एवं तकनीकी) और मेसर्स ग्रीन एनर्जी रिसोर्सेस की ओर से, श्री एन॰के॰ अग्रवाल, साझेदार ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। श्री अंशुमान दास, अध्यक्ष-सह-प्रबन्ध-निदेशक, श्री एन॰आर॰ महान्ति, निदेशक(परियोजना एवं तकनीकी), श्री बी॰के॰ शतपथी, महाप्रबन्धक (अनुसन्धान एवं विकास) और श्री पी॰के॰ बिश्वाल, साझेदार, मेसर्स ग्रीन एनर्जी रिसोर्सेस इस अवसर पर उल्लेखनीय रूप से उपस्थित थे।


यह प्रक्रिया नालको और जवाहरलाल नेहरू एल्युमिनियम अनुसन्धान विकास और डिजाइन केन्द्र (जेएनआरडीसी), नागपुर के बीच एक सहयोगी प्रयास में विकसित की गई है। मेसर्स ग्रीन एनर्जी रिसोर्सेस द्वारा (आवश्यक सांविधिक पारिती पाने के बाद) एक अनकूल आकार के संयंत्र की संस्थापना और चालू किए जाने पर अपशिष्य सामग्री (भुक्तपॉट लाइन) के उपयोग में मदद मिलेगी।